गया जिला स्थापना दिवस समारोह का हुआ आयोजन - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Thursday, 3 October 2019

गया जिला स्थापना दिवस समारोह का हुआ आयोजन

*गया जिला स्थापना दिवस समारोह का हुआ आयोजन

*
गया,3 अक्टूबर 2019, 
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित

 बिहार में गया जिला का 155 वें जिला स्थापना दिवस के अवसर पर समाहरणालय अवस्थित पार्क में जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह के कर कमलों से केक काटकर एवं 155 मोमबत्तियां जलाकर जिला स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर मेयर, उप मेयर, नगर आयुक्त, सहायक समाहर्ता, उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, जिला प्रबंधक राज्य खाद्य निगम, उप निदेशक जनसंपर्क सहित तमाम पदाधिकारी उपस्थित थे।
इसके उपरांत गया संग्रहालय में माननीय मंत्री कृषि विभाग, बिहार सरकार सह नगर विधायक डॉक्टर प्रेम कुमार, आयुक्त मगध प्रमंडल, जिलाधिकारी, मेयर के कर कमलों द्वारा दीप प्रज्वलित कर जिला स्थापना दिवस समारोह का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर उप मेयर, नगर आयुक्त, उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, सहायक समाहर्ता उपस्थित थे।
जिलाधिकारी ने अपने स्वागत भाषण में गया जिला के ऐतिहासिक एवं पौराणिक गौरव से अवगत कराते हुए कहा कि गया में सिद्धार्थ को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी गहलोर घाटी के तपोवन में चार ब्रह्मा कुमारो की तपस्या करने का वर्णन मिलता है। साथ ही गया को पिंडदान के लिए सर्वश्रेष्ठ स्थल माना जाता है। यह धरती अनेक ऋषि-मुनियों एवं राजा महाराजाओं की साधना स्थली रही है। गया में माता सीता द्वारा पिंड दान करने का वर्णन मिलता है। इसके अतिरिक्त यहां शक्तिपीठ मंगला गौरी बिथोशरीफ इत्यादि दर्शनीय एवं उल्लेखनीय स्थल हैं। गया का महाबोधि मंदिर यूनेस्को के विश्व विरासत में शामिल है। गया के गौरव विश्व विख्यात है इसके अतिरिक्त जिला प्रशासन द्वारा लगातार गया में विकास के कार्य किए जा रहे हैं उन्होंने विकास कार्यों के आंकड़ा से लोगों को अवगत कराया। 
उप मेयर श्री मोहन श्रीवास्तव ने समारोह को संबोधित करते हुए गया नगर निगम के कार्य योजना से लोगों को अवगत कराया।
आयुक्त मगध प्रमंडल श्री असंगबा चुबा आओ ने समारोह को संबोधित करते हुए गया जिला के गौरव से लोगों को अवगत कराया एवं वर्तमान वर्ष में जिला प्रशासन द्वारा कराए गए कार्यों का उल्लेख किया गया। उन्होंने कहा कि 180 000 लोगों को डीबीटी के माध्यम से सामाजिक सुरक्षा पेंशन दिया गया है। लोक शिकायत अधिकार अधिनियम के तहत 28000 परिवादों का निष्पादन किया गया है। लोक सेवाओं का अधिकार अधिनियम के तहत 45000 आवेदनों का निष्पादन किया गया है। 3000 स्टूडेंट को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड प्रदान किया गया है। कुशल युवा के तहत 30000 बच्चों को लाभान्वित किया गया है गया जिला विकास के कार्य में अग्रणी पंक्ति में खड़ा है उन्होंने कहा कि गया का इतिहास गौरवपूर्ण है लेकिन आधुनिक सोच के साथ हमें आगे बढ़ना होगा साथ ही अपने व्यवहार में परिवर्तन लाना होगा। हमारे दैनिक जीवन में बहुत सी समस्याएं हैं जो हमारे व्यवहार के कारण उत्पन्न होते हैं। उनमें ट्रैफिक जाम की समस्या स्वच्छता भी है इसलिए हमें अपने व्यवहार में परिवर्तन लाना होगा।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माननीय कृषि मंत्री बिहार सरकार ने गया के गौरवपूर्ण इतिहास से लोगों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि गया ज्ञान एवं मोक्ष की भूमि है। महात्मा बुध को यहीं ज्ञान प्राप्त हुआ था इसलिए गया को गया जी के नाम से पुकारा जाता है। यहां के महत्वपूर्ण स्थलों का विकास कर केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा गया को पर्यटन का केंद्र बनाने का प्रयास जारी है। उन्होंने हृदय योजना एवं बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम द्वारा किए गए कार्यो से सभी को अवगत कराया उन्होंने सीताकुंड, रामकुंड, डुंगेश्वरी सहित सभी स्थलों में किए गए कार्यों से अवगत कराया। उन्होंने कृषि विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों से भी लोगों को अवगत कराया और आमस शेरघाटी क्षेत्र में एक कृषि विज्ञान केंद्र बनाने की कार्य योजना से लोगों को अवगत कराया।

No comments:

Post a Comment