जी०बी०एम० काॅलेज में धूमधाम से मनायी गयी राष्ट्रपिता की 150वीं वर्षगांठ - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Tuesday, 1 October 2019

जी०बी०एम० काॅलेज में धूमधाम से मनायी गयी राष्ट्रपिता की 150वीं वर्षगांठ

प्रकाशनार्थ

जी०बी०एम० काॅलेज में धूमधाम से मनायी गयी राष्ट्रपिता की 150वीं वर्षगांठ 

गौतम बुद्ध महिला महाविद्यालय में प्रधानाचार्य प्रो०जावेद अशरफ की अध्यक्षता में महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना ईकाई की ओर से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं वर्षगांठ धूमधाम से मनायी गयी। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप-प्रज्ज्वलन तथा महात्मा गांधी की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं पुष्पार्पण द्वारा हुआ। संगीत विभागाध्यक्षा डाॅ० नूतन कुमारी के निर्देशन तथा अंग्रेजी विभाग की सहायक प्राध्यापिका डाॅ० कुमारी रश्मि प्रियदर्शनी के नेतृत्व में छात्रा जयंती, राजश्री, लवली निगम, स्वीटी तथा मोनिका ने हारमोनियम पर गांधी जी के प्रिय भजन 'वैष्णव जन तो तेने कहिए पीड़ परायी जाणे रे' तथा रघुपति राघव राजाराम' की सुमधुर प्रस्तुति दी। नववनियुक्त एन०एस०एस०प्रभारी डाॅ० प्रियंका कुमारी ने कार्यक्रम का समन्वयन तथा संचालन करते हुए कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों का स्वागत किया। इस अवसर पर उन्होंने एनo एस० एस० की छात्राओं से स्वच्छता अभियान में बढ़-चढ़कर भाग लेने का आग्रह किया। प्रथम वक्ता के रूप में पूर्व एन० एस० एसo प्रभारी डाॅ० शगुफ्ता अंसारी ने गांधी जी के अहिंसावाद और सत्याग्रह-सिद्धांतों पर प्रकाश डाला। द्वितीय वक्ता के रूप में डाॅ० कुमारी रश्मि प्रियदर्शनी ने 'आज है दो अक्टूबर का दिन आज का दिन है बड़ा महान, आज के दिन दो फूल खिले हैं जिनसे महका हिन्दुस्तान' पंक्तियाँ उद्धृत करते हुए 2 अक्टूबर की तिथि को दो महापुरुषों, क्रमशः राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा देश के दूसरे प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री के जन्मदिवस होने की वजह से पूरे भारतवर्ष के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि इन दोनों महापुरुषों का जीवन चुनौतियों से संघर्ष की कहानी रहा। इनकी जयंती का मनाना तभी सार्थक होगा जब हम मनसावाचाकर्मणा इन महामानवों के द्वारा प्रतिपादित कल्याणकारी विचारों को अपने जीवन में उतार सकें। अंग्रेजी विभागाध्यक्षा प्रो०उषा राय ने महात्मा गांधी को एक महान पर्यावरणविद् बताते हुए अपने आसपास के परिवेश को हरा-भरा और स्वच्छ रखने का संदेश दिया। अपने अध्यक्षीय भाषण में प्रधानाचार्य प्रो० अशरफ ने महात्मा गांधी को  देश और समाज के प्रति पूर्णरूपेण समर्पित व्यक्तित्व बताया जिनके समान इस दुनिया में न कोई दूसरा हुआ, न भविष्य में हो सकेगा।उन्होंने लाल बहादुर शास्त्री जी के द्वारा गंगा नदी में तैर कर भी विद्यालय पहुंच जाने की कहानी का दृष्टांत देते हुए छात्राओं से हर दिन महाविद्यालय आने का अनुरोध किया। इस आयोजन में छात्रा अर्पणा, सुरभि, रिया, सपना और राखी ने भी महात्मा गांधी की जीवनी और विचारों पर प्रकाश डालते हुए समाज से भेदभाव मिटा डालने की इच्छा जाहिर की। धन्यवाद-ज्ञापन डाॅ० दीपशिखा पांडेय ने किया। इस समारोह में डाॅ० निर्मला कुमारी, डाॅ० जया चौधरी, डाॅ० पूजा, डाॅ० नगमा शादाब, डाॅ० शिल्पी बनर्जी, डाॅ० फरहीन, डाॅ० पवन कुमार पाण्डेय, डाॅ० ईमा सहित अनेक शिक्षकेत्तर कर्मियों और छात्राओं की उपस्थिति रही।

No comments:

Post a Comment