धीरज कुमार कि मा ने कहा नेहा निर्दोष,पुलिस फसा रही है नेहा को। - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Saturday, 7 September 2019

धीरज कुमार कि मा ने कहा नेहा निर्दोष,पुलिस फसा रही है नेहा को।

धीरज कुमार कि मा ने कहा नेहा निर्दोष,पुलिस फसा रही है नेहा को।
गया से रिपोर्ट
गया के कोतवाली थाना क्षेत्र के मुरारपुर की रहने वाली नेहा गुप्ता उर्फ़ प्रिंयका के साथ उसके ससुराल वालों ने साजिश करके अपने नौकर पर मानसिक एवं शारिरिक प्रताड़ना का केस दर्ज कर फसा दिया गया हैऔर इस कार्य में पुलिस की भी मिलीभगत है नेहा गुप्ता की शादी 9 दिसम्बर 2015 में गया शहर के सोने चांदी की व्यबसाय करने वाले बैजू गुप्ता के बड़े पुत्र गौरव कुमार के साथ हिन्दू रीति रिवाजों के साथ महाबौधी रिसार्ट मे हुई बढी धुम धाम से हुई थी शादी के बाद से नेहा गुप्ता पर प्रताड़ना का दौर शुरू हो गया था उसके साथ काफ़ी मारपीट करने का कुकृत्य किया जाने लगा,पिडीता नेहा गुप्ता ख़ुद इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी कर रही थीं बेजु प्रसाद के पटना मे कोई परिवार ने इस शादी को करवाया जिससे नौकरी बाद छोड़ने का दवाब भी दिया जाने लगा तो नेहा गुप्ता नौकरी से इस्तीफा देकर कर एक आदर्श नारी की तरह अपने घर परिवार को देख रही थी लेकिन ससुराल वालों को पैसा के हवस ने अंधा कर दिया है नेहा गुप्ता पर अपने घर से हर समय पैसा लाने का दवाब दिया जाता रहा है जब कभी इसका विरोध करती तो उसे घर से निकाल देने का धमकियां दिया जाने लगा और रविवार कि रात उसी के तहत अपने सहयोग के लिए धीरज कुमार जो पटना सिटी का रहने वाला है जिसे वह भाई  की तरह रखी हुई थी उसके साथ  मारपीट एवं प्रताड़ित करने का आरोप लगा कर रात्री में 11 बजे कोतवाली थाना पुलिस और बाल श्रम विभाग के सहयोग से घर से बल पूर्वक थाना लाया गया और नेहा गुप्ता के कहने का कोई असर नही दिखा कि धीरज कि मा आ रही है कुछ देरी रुक जाईए तब ले जाईएगा लेकिन पुलिस प्रशासन ने एक भी बात नही सुना और धीरज को ले गयी, नेहा गुप्ता के खिलाफ आरोप लगा कर मुकदमा दर्ज किया गया जो सरासर गलत है जबकि धीरज कुमार के माँ ने बताया कि धीरज कोई काम नही करता है धीरज शुरु से उदंड है उसको किसी नै जलाया नही है उसका पहले से दाग है एव  यह अपने से चाय पानी बनाया होगा उसी मे जलाया है और बच्चा पहले भी नशा करता था मे ही यहा सारा काम करती थी नेहा इससे किसी प्रकार का काम नही कराती थी नेहा इसे पढाती लिखाती थी और हम सभी एक ही रुम मे सोते है धीरज कि मा ने कहा कि धीरज को कोई सिखा पढा दिया है तभी ऐसा किया है और नेहा गुप्ता उसे अपना छोटा भाई मानती है तो वह उसके साथ मारपीट क्यों करेगी उसने कहा कि नेहा पर लगाया गया सारा आरोप बेबुनियाद है,प्रियंका के ससुराल वालों ने अपने पैसे और पैरवी के बल पर साजिश के तहत फ़साने का कार्य किया जा रहा है जिससे प्रिंयका गुप्ता बदनाम हो और गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाए और इस कुकृत्य में पुलिस, बाल श्रम विभाग के साथ साथ उसके ससुराल पक्ष के सदस्य शामिल हैं जो केश कोतवाली मे नेहा गुप्ता का कांड संख्या 573/18 है  जोकि पति के द्वारा केश ना कम्परमाईज न करने पर जान से मारने कि धमकी एव झुठे कैश मे फसा देनी की साजिश कि तहत नेहा गुप्ता को फसाया गया। नेहा गुप्ता वरिय एस एसपी से मांग करती है निष्पक्ष जाच कि जाए।

No comments:

Post a Comment