जब बच्चे हंसते-खेलते है और अपना काम स्वयं करने लगते है। अपने बच्चों को खुश देखकर माता-पिता की खुशी दोगुनी हो जाती है। परन्तु यदि किसी शारीरिक अक्षमता के कारण बच्चे सामान्य बच्चों की तरह अपना जीवन नहीं जी पाते है, - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Monday, 30 September 2019

जब बच्चे हंसते-खेलते है और अपना काम स्वयं करने लगते है। अपने बच्चों को खुश देखकर माता-पिता की खुशी दोगुनी हो जाती है। परन्तु यदि किसी शारीरिक अक्षमता के कारण बच्चे सामान्य बच्चों की तरह अपना जीवन नहीं जी पाते है,

आशिक, दिवस, प्रियंका और शैलेन्द्र के चेहरों पर आई मुस्कान


शिवपुरी ब्रेकिंग न्यूज


शिवपुरी/जब बच्चे हंसते-खेलते है और अपना काम स्वयं करने लगते है। अपने बच्चों को खुश देखकर माता-पिता की खुशी दोगुनी हो जाती है। परन्तु यदि किसी शारीरिक अक्षमता के कारण बच्चे सामान्य बच्चों की तरह अपना जीवन नहीं जी पाते है,
तो बच्चों का विकास अवरूद्ध होता है। साथ ही माता-पिता की खुशी भी गम में बदल जाती है। ऐसी ही कहानी है आशिक, दिवस, प्रियंका और शैलेन्द्र की। ये बच्चें दिव्यांग है। इन बच्चों को सीपी चेयर, बे्रल किट एवं रो-लेटर दिए गए है। सहायक उपकरण पाकर बच्चों के चहरों पर मुस्कान थी। न केवल बच्चे खुश थे, बल्कि उनके माता-पिता भी बहुत खुश थे। 
आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में फुर्तला निवासी लक्ष्मण के बेटे आशिक कुशवाह, कुम्हरोआ निवासी रामकिशन के बेटे दिवस झा को सीपी चेयर, कुम्हरोआ निवासी प्रियंका परिहार को ब्रेल किट और बेसोराकलां निवासी धर्मेन्द्र प्रजापति के बेटे शैलेन्द्र प्रजापति को रो-लेटर दिया गया है। उनके माता-पिता ने अपनी खुशी व्यक्त करते हुए बताया कि अब बच्चों को आने-जाने में असुविधा नहीं होगी। बच्चों को बाधा नहीं आएगी।
बच्चों के माता-पिता का कहना है कि दिव्यांग बच्चों के लिए सहायक उपकरण उनके जीवन को सरल व सुगम बनाने में सहायक है। बच्चों को नए उपकरण प्रदाय करने के लिए हम सरकार का आभार व्यक्त करते है। 




विनोद कुमार प्रजापति


9713214512

No comments:

Post a Comment