रमानी तो मोहरा है मास्टर माइंड कोई और है': पूर्व सांसद ने ठाकुरबाड़ी के महंत दिलीप दास की निर्मम हत्या को बताया बहुत बड़ी साजिश - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Saturday, 31 August 2019

रमानी तो मोहरा है मास्टर माइंड कोई और है': पूर्व सांसद ने ठाकुरबाड़ी के महंत दिलीप दास की निर्मम हत्या को बताया बहुत बड़ी साजिश

रमानी तो मोहरा है मास्टर माइंड कोई और है': पूर्व सांसद ने ठाकुरबाड़ी के महंत दिलीप दास की निर्मम हत्या को बताया बहुत बड़ी साजिश

हर खबर आप तक 

भारत न्यूज़ लाइव 24

रिपोर्टर आमिर आजाद
 


मधेपुरा के सिंहेश्वर के अशोक वाटिका में मधेपुरा के पूर्व सांसद सह जाप के संरक्षक पप्पू यादव ने राम जानकी चौधरी ठाकुरबाड़ी के महंत दिलीप दास की निर्मम हत्या को बहुत बड़ी साजिश बताया. 

उन्होंने कहा कि  यह हत्या कहीं पर निगाहें कहीं पर निशाना वाली बात है.  इसके पीछे बहुत बड़ी साजिश है, यह हत्या प्लान वे में किया गया है. उन्होंने कहा कि कल खुद डी.जी. से मिलकर सी.आई.डी. या अच्छी जांच एजेंसी से इसकी जांच करवाऊंगा. उन्होंने कहा कि इस हत्या के पीछे बहुत ही बड़ा ताकतवर आदमी का हाथ है, यह रमानी तो मोहरा है मास्टर माइंड कोई और है. जिस बेरहमी से हत्या की गई है उसे हम छोड़ेंगे नहीं चाहे वह पाताल में ही कहीं छुपा हो. जब तक इसका पता नहीं चलेगा इसमें कौन-कौन है और इसके पीछे किसका हाथ है हम चैन से नहीं बैठेंगे.

आगे उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन इस मामले में पूरी तरह इन्वॉल्व है और पैसा भी खाया हुआ है. बिहार की दयनीय पुलिस प्रशासन व्यवस्था पर चोट करते हुए कहा कि बिहार में आम आदमी सुरक्षित नहीं है. हम उदाकिशुनगंज से जाते हैं दूसरे ही दिन किसान की हत्या कर दी जाती है. कब कौन किसको मार देगा कब किसकी मौत हो जायेगी यह कहना मुश्किल है. मधेपुरा की पुलिस प्रशासन पूरी तरह कोलेप्स कर गई है और पूरे के पूरे को बदलने की जरूरत है.

एन.एच. 106 और 107 पर हुए जन आंदोलन पर भी सवाल खड़े किये

एन.एच. 106 और 107 की जर्जर स्थिति पर आमजन के विरोध पर उन्होंने कहा कि आमजन कुंभकरण की नींद में सोए रहते हैं. यह अच्छी बात है कि किसी मुद्दे पर तो आमजन आगे आए हैं. हमारी पार्टी हमेशा आमजन के साथ है लेकिन सड़क बनेगा कैसे केंद्र सरकार तो दिवालिया घोषित हो गया है. उन्होंने कहा कि 70 साल में ऐसा कभी नहीं हुआ है. मात्र 25 दिनों के अंदर 7 लाख 4 हजार करोड़ रुपए का निवेश पूंजी बाहर चला गया. बिहार सरकार को वेतन देने के लिए पैसा नहीं है. केंद्र सरकार अपनी जमीन और ऑफिस बेच रही है. यह सरकार लोगों को बरगला रही है. कभी आरक्षण, बैकवर्ड - फॉरवर्ड, एन.आर.सी. तीन तलाक, हिंदू- मुस्लिम, भारत - पाकिस्तान, कश्मीर, अपराध और ए.के. -47 के नाम पर.

उन्होंने ए.के.-47 पर कहा कि ए.के.-47 बिहार में कहाँ नहीं है. आज हर एम.एल.ए. एम.पी. के पास है. उन्होंने कहा आज सबसे बड़ा मुद्दा सेक्सुअल ह्रासमेंट का है. आज दरोगा को लड़की चाहिए, नेता को लड़की चाहिए. उन्होंने सवालिया अंदाज में कहा कि किसको नहीं चाहिए बस आप अपनी बहन और बच्ची को बचा लीजिए यही बहुत है. उन्होंने कहा आज होस्टल से लड़की सप्लाई किया जाता है. हमें 3 हॉस्टलों में लड़की सप्लाई होने की जानकारी मिली. उसे रोकने के लिए मरने मारने की बात के बाद यह बंद हुई. हिंदुस्तान की पब्लिक सिर्फ चार मामले में ही सड़क पर उतरती है. यह चार मामले हिंदू- मुस्लिम, जात -पात और मंदिर- मस्जिद के अलावे हिंदुस्तान के पब्लिक को किसी से कोई मतलब नहीं है कि किसका बेटा मर रहा है, किसका बेटा जी रहा है किसकी बच्ची का बलात्कार हो रहा है.

सिंहेश्वर के जजहट सबैला स्थित मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में चार दर्जन डॉक्टर बिना कोई काम के हैं जबकि अस्पतालों में चिकित्सकों का अभाव है. इस सवाल पर उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज सरकार और नेता के बीच की कड़ी है. टेंडर हो गया नेता सब मिलकर इसका पैसा लूट लिया. यही हाल इंजीनियरिंग कॉलेज और पॉलिटेक्निक कालेज का भी है. उन्होंने कहा टेंडर हो गया भवन बन गया और कहीं भी फैकल्टी का प्रोफेसर नहीं है. इसकी जांच करायेंगे छोड़ेंगे किसी को भी नहीं. जब पटना के एम्स में डॉक्टर नहीं है और एक एम्स पहले से ही बिहार में आने वाला है उसको जमीन नहीं मिला है.

आगे उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज खोल लिए उसका कोई इन्फ्राट्रक्चर नहीं है. एच.ओ.डी. खोल दिया गया लेकिन लैब नहीं है, टेक्नीशियन नहीं है, अल्ट्रासाउंड, सीटी स्कैन, एमआरआई की कोई सुविधा नहीं है. जब मुख्यमंत्री खुद सुप्रीम कोर्ट में बताया कि 62 प्रतिशत डॉक्टर नहीं है, 50 प्रतिशत कर्मचारी नहीं है, 73 प्रतिशत नर्स नहीं है, 83 प्रतिशत टेक्निकल और लैब नहीं है. आज पूरे बिहार में कुकुरमुत्ता की तरह निजी क्लीनिक क्यों खुल रहे हैं. अगर आई.जी.एम.एस. और एम्स में डाक्टर रहते तो इन लोगों की चलती क्या.

उन्होंने मेडिकल कॉलेज में चार दर्जन डॉक्टर होने के सवाल पर कहा यह सब सिर्फ पेपर में है. मेडिकल कॉलेज में मात्र 4 डाक्टर है  बाकी सब कागज पर हैं. अब अस्पतालों में होम्योपैथ का इलाज ललन सिंह करेंगे. बाबा रामदेव एलोपैथी का इलाज कर रहे हैं. अब गोमूत्र खत्म हो गया नीतीश कुमार और ललन सिंह का आयुर्वेदिक इलाज होगा उसमें मसल्स पावर, नयनसुख, सेक्स पावर और गर्मी चढ़ता है. साथ ही एल.एन.टी. के प्रोजेक्ट मैनेजर अनिल सिंह को भी कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि अनिल सिंह यहां से 10 करोड़ लूट कर गया है. हम छोड़ेंगे नहीं सारे मामलों का दिल्ली से जांच कराएंगे.

No comments:

Post a Comment