Breaking News

सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने पर लगेगा 200 रूपए का जुर्माना तम्बाकू नियंत्रण कानून के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु अधिकारियों का प्रशिक्षण सम्पन्न

सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने पर लगेगा 200 रूपए का जुर्माना
तम्बाकू नियंत्रण कानून के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु अधिकारियों का प्रशिक्षण सम्पन्न
शिवपुरी, 22 अगस्त 2019/ 
भारत सरकार ने तम्बाकू आपदा से लोगों को बचाने के लिए तम्बाकू नियंत्रण कानून कोटपा-2003 बनाया है। इस कानून की धारा 4 के अनुसार सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान प्रतिबंधित है। सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करने पर 200 रूपये तक का जुर्माना किया जा सकता है। यह बात तम्बाकू नियंत्रण कानून के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए ए.एन.एम. टेनिंग सेंटर, जिला अस्पताल परिसर में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में श्री रोहित गुप्ता (कार्यक्रम अधिकारी, एमपीवीएचए) द्वारा कही गई। 
एमपीवीएचए के कार्यक्रम अधिकारी श्री रोहित गुप्ता ने बताया कि धारा 5 के अनुसार किसी भी तम्बाकू उत्पाद का विज्ञापन या प्रायोजन प्रतिबंधित है, धारा 6(अ) के अनुसार नाबालिगों को अथवा उनके द्वारा तम्बाकू उत्पाद बेचना प्रतिबंधित है, धारा 6 (बी) अनुसार शैक्षणिक संस्थानों के 100 गज (300 फिट) के दायरे में तम्बाकू उत्पाद बेचना प्रतिबंधित है, धारा 7 के अनुसार तम्बाकू उत्पादों के 85 प्रतिशत हिस्से पर चित्रात्मक स्वास्थ्य चेतावनियाँ अनिवार्य है। 
प्रशिक्षण में एमपीवीएचए के संभागीय समन्वयक श्री संजीव शर्मा ने बताया कि तम्बाकू नियत्रंण के लिए विभिन्न विभागों का समन्वय अत्यंत आवश्यक है। इसके लिए जरूरी है कि शैक्षणिक संस्थानों के 300 फिट के दायरे में पीली रेखा बनाकर चिन्हित किया जाए। तम्बाकू उत्पाद की दुकानों पर धारा 6(अ) के अंतर्गत निर्धारित सूचना-पटल अनिवार्य रूप से लगाए जाए। शैक्षणिक संस्थान के मुख्य द्वार पर तम्बाकू मुक्त शैक्षणिक संस्थान के 100 गज (300 फिट) के दायरे में किसी भी प्रकार के तम्बाकू उत्पाद बेचना अपराध है एवं उल्लंघन करने वालों पर 200 रूपये तक का जुर्माना हो सकता है, इस संबंध में बोर्ड भी लगवाया जाए। प्रतिमाह आयोजित होने वाली पुलिस विभाग की क्राईम रिव्यू मीटिंग में तम्बाकू नियंत्रण कानून के परिपालन की समीक्षा नियमित रूप से की जाए। पंचायत सचिवों के माध्यम से पंचायत के अंतर्गत आने वाले सभी गाँव में तम्बाकू नियंत्रण कानून का पूर्ण रूप से परिपालन करवाया जाए।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग से डॉ. आशीष व्यास (नोडल अधिकारी, जिला तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम) ने जिले में तम्बाकू नियंत्रण के लिये हो रहे प्रयासों के बारे में बताया और विभिन्न विभागों से स्वास्थ्य विभागों की अपेक्षाओं के विषय में अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम का संचालन फिरदौस खान (मैनर्स सपोर्ट इन डेवलपमैंट) के द्वारा किया गया। 
प्रशिक्षण का आयोजन स्वास्थ्य विभाग और मध्यप्रदेश वालंटरी हेल्थ एसोसिएशन द्वारा इंटरनेशनल यूनियन अगेन्स्ट ट्यूबरक्यूलोसिस एंड लंग डिसिज (द यूनियन) के सहयोग से किया गया। इस अवसर पर शिक्षा विभाग के सहायक निदेशक श्री ए.के.रोहित, श्री विवेक श्रीवास्तव, नगर पालिका परिषद से श्री सचिन चौहान, नगरी प्रशासन के डूडा से परियोजना अधिकारी श्री मधुसुदन श्रीवास्तव, सुनीता सक्सेना पुलिस विभाग से एसआई श्री विजय पाल सिंह, उत्तम सिंह मंडेलिया, मनीष सिंह चौहान आदि विभागों के अधिकारी मौजूद थे। 


विनोद कुमार प्रजापति


9713214512

No comments