जर्जर सड़क पर कांवरियों की होगी कठिन परीक्षा - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Sunday, 14 July 2019

जर्जर सड़क पर कांवरियों की होगी कठिन परीक्षा

जर्जर सड़क पर कांवरियों की होगी कठिन परीक्षा


हर खबर आप तक

भारत न्यूज़ लाइव 24

रिपोर्टर आमिर आजाद
   
जर्जर सड़क पर कांवरियों की होगी कठिन परीक्षा
उत्तर बिहार के प्रसिद्ध सिंहेश्वर नाथ मंदिर में सावन में जलाभिषेक करने आने वाले कांवरिये और डाक बम को सड़क की बदहाल स्थिति के कारण काफी परेशानी उठानी पड़ सकती है।

गड्ढे में तब्दील भागलपुर- मधेपुरा- सिंहेश्वर रोड पर करीब सवा सौ किलोमीटर पैदल चलनता कंवरियों के लिए कठिन परीक्षा साबित हो सकती है। सिंहेश्वर पहुंचने के बाद भी कांवरिये और श्रद्धालुओं को जलजमाव और कीचड़ में दुश्वारियों का सामना करना पड़ सकता है। महादेवपुर घाट से जलभर कर कांवरिये और डाकबम चौसा, उदाकिशुनगंज- मधेपुरा होते हुए सिंहेश्वर पहुंचते हैं। इस मार्ग पर कांवरियों की तादाद हर साल बढ़ती जा रही है। क्षेत्र से बड़े पैमाने पर लोग सावन में महादेवपुर घाट जाते हैं। वहां से जलभर कर बाबा सिंहेश्वर नाथ को जल अर्पित करने सिंहेश्वर पहुंचते हैं। महादेवपुर घाट से सिंहेश्वर की दूरी करीब सवा सौ किलोमीटर है। रोड पर कहीं गड्ढे, पानी, कीचड़ और गिट्टी रहने के कारण पैदल चलने में कांवरियों को ज्यादा परेशानी उठानी पड़ सकती है। इस मार्ग पर प्रशासन की ओर से कांवरियों की सुविधा के लिए किसी प्रकार की व्यवस्था नहीं की जाती है। स्थानीय लोग जगह- जगह कांवरियों की सेवा को तत्पर रहते हैं। रास्ते में वे लोग ही कांवरियों के लिए मददगार साबित होते हैं। जिला प्रशासन की ओर से सिंहेश्वर में श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा की व्यवस्था की जाती है। लेकिन इस बार सिंहेश्वर की सड़कों की जलजमाव और कीचड़ के कारण बदतर स्थिति बनी हुई है। हालांकि डीएम और एसपी दो दिन पूर्व सावन के मेले की तैयारी की समीक्षा कर चुके हैं।

सावन की सोमवारी को लगती है भारी भीड़: सिंहेश्वर नाथ मंदिर में सावन की सोमवारी को श्रद्धालुओं के साथ कांवरियों की ज्यादा भीड़ रहती है। सोमवारी के दिन करीब चार- पांच सौ डाक बम चार- पांच हजार कांवरिया बाबा भोलेनाथ को जल अर्पित करते हैं। आम श्रद्धालुओं की संख्या तो सोमवारी के दिन एक से डेढ़ लाख तक पहुंच जाती है। आसपास के लगभग सभी जिले से श्रद्धालु यहां जलाभिषेक को पहुंचते हैं।

एनएच और आरडब्लूडी के अधिकारियों को सड़क मरम्मत करने का निर्देश दिया गया है। इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है कि सिंहेश्वर नाथ मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की आसुविधा नहीं हो। नवदीप शुक्ला, डीएम, मधेपुरा

No comments:

Post a Comment