बिहार में स्वास्थ्य विभाग की प्रगति की हुई समीक्षा - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Saturday, 8 June 2019

बिहार में स्वास्थ्य विभाग की प्रगति की हुई समीक्षा

*बिहार में स्वास्थ्य विभाग की प्रगति की हुई समीक्षा

*

गया, 08 जून 2019, 

रिपोर्टः

दिनेश कुमार पंडित


बिहार के जिला गया में  समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की प्रगति की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान आयुष्मान भारत योजना में तेजी लाने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना का प्रतिदिन विभाग स्तर मॉनेटरिंग किया जा रहा है। बैठक में बताया गया कि डोभी, टनकुप्पा एवं गया शहरी क्षेत्र में आयुष्मान भारत योजना की जांच दिल्ली की टीम आकर करेगी टीम गांव गांव में जाकर इस योजना की जानकारी देगी एवं लाभान्वित परिवारों से मुलाकात करेगी।

उन्होंने सभी एमओआईसी को शत-प्रतिशत संस्थागत प्रसव अस्पताल में करवाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि अभी भी घर में प्रसव (होम डिलीवरी) कम नहीं हो रहा है। टीकाकरण की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि टीकाकरण में त्वरित प्रगति अपेक्षित है। अगली बैठक तक इसमें शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की जानकारी के लिए जिला स्तर पर एक नियंत्रण कक्ष स्थापित करने का निर्देश दिया जिसमें टॉल फ्री नंबर स्थापित किया जाए ताकि आम लोगों को स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त हो सके। साथ ही योजनाओं का लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया उन्हें बताया जा सके। समीक्षा के दौरान गर्मी के मौसम को देखते हुए जिलाधिकारी ने सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में सर्प काटने एवं कुत्ता काटने की वैक्सीन उपलब्ध रखने का निदेश दिए। 

समीक्षा के दौरान यूनिसेफ के प्रतिनिधि ने बताया कि कुछ स्वास्थ्य केंद्रों में आवश्यक दवाओं का अभाव है। जिलाधिकारी ने डीपीएम को तत्काल उक्त अस्पताल में आवश्यक दवा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था कायम की जाए ताकि दवा खत्म होने के पहले ही उसे जिला स्तर से दवा उपलब्ध कराया जा सके। इसके लिए खत्म होने वाली दवा की मांग संबंधित चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा पहले से ही की जाए। उन्होंने कहा कि सभी अस्पताल के कर्मियों का जून महीने के वेतन की निकासी बायोमेट्रिक उपस्थिति के अनुसार की जाएगी और यह व्यवस्था अब आगे भी जारी रहेगी। किसी अस्पताल में बायोमैट्रिक अटेंडेंस के बिना कर्मियों के वेतन निकासी नहीं की जाएगी। 

बैठक में प्रसव पूर्व जांच की भी समीक्षा की गई। जिलाधिकारी ने कहा कि गर्भवती महिलाओं का शत प्रतिशत प्रसव पूर्व जांच की जाए। उन्होंने आशा को प्रशिक्षण दिलाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्सा को निर्देश दिया कि आशा के प्रोत्साहन राशि समय पर मुहैया करें। एस्पिरेशनल डिस्टिक के तहत गया जिले के आठ अस्पतालों में रैंप लगाया जाना है जिनमें आतरी, कोच एवं टेकारी में कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। बैठक में बताया गया कि बांके बाजार पीएससी का बाउंड्री वाल नहीं होने के कारण काफी कठिनाइयां हो रही है। आपातकालीन भवन, बेलागंज जो काफी जर्जर है, उसे मरम्मति कराने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। उन्होंने निर्देश दिया कि आशा के प्रोत्साहन राशि में विलंब करने के कारण गुरारू के हेल्थ मैनेजर का वेतन अगले आदेश तक स्थगित करते हुए स्पष्टीकर की मांग की गई। गुरारू के हेल्थ मैनेजर इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग के अन्य योजनाओं की भी समीक्षा की गई। 

बैठक में सिविल सर्जन राजेंद्र प्रसाद सिन्हा, डीपीएम यूनिसेफ के सदस्य एवं सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारीमौजूद थे।

No comments:

Post a Comment