बिहार के बौधगया में बुद्ध पूर्णिमा के दौरान सुरक्षा को लेकर की गई बैठक - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Wednesday, 15 May 2019

बिहार के बौधगया में बुद्ध पूर्णिमा के दौरान सुरक्षा को लेकर की गई बैठक

*बिहार के बौधगया में बुद्ध पूर्णिमा के दौरान सुरक्षा को लेकर की गई बैठक

गया, 16 मई 2019,

रिपोर्टः

दिनेश कुमार पंडित

बोधगया बिहार से 

 बिहार के ज्ञान भूमि बोधगया में बीटीएमसी के सभाकक्ष में बुद्ध पूर्णिमा के आयोजन के अवसर पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर आयुक्त मगध प्रमंडल सुश्री टी एन. बिंधेश्वरी की अध्यक्षता में बैठक की गई।

उल्लेखनीय है कि बुद्ध पूर्णिमा कार्यक्रम का आयोजन 16, 17 एवं 18 मई 2019 को है ।16 एवं 17 मई को सेमिनार का आयोजन किया गया है जबकि 18 मई को मुख्य कार्यक्रम आयोजित है। इस अवसर पर बिहार और भारत के स्थानीय बौद्ध भिक्षु, बौद्ध श्रद्धालु, अंतरराष्ट्रीय बौद्ध भिक्षु एवं बौद्ध धर्मावलंबी के साथ साथ भारी संख्या में महाराष्ट्र से बौद्ध श्रद्धालु बोधगया आते हैं जो खासकर रेलवे के माध्यम से आते हैं। इनके आवासन की व्यवस्था कालचक्र मैदान एवं चिल्ड्रन पार्क में की गई है।इसके अतिरिक्त सभी मॉनेस्ट्री एवं होटल में श्रद्धालु ठहरते हैं।

बैठक में बुद्ध पूर्णिमा के आयोजन के अवसर पर 16, 17 एवं 18 मई 2019 के लिए पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चर्चा की गई। होटल एसोसिएशन के प्रतिनिधियों को बताया गया कि जहां-जहां भी आगंतुक ठहरते हैं, वहां एहतियात बरती जाए तथा उस स्थल पर सीसीटीवी कैमरा लगाया जाए। साथ ही उस सीसीटीवी कैमरा का लगातार अवलोकन किया जाए। यदि किसी की कोई संदिग्ध गतिविधि पाई जाती है तो तुरंत संबंधित पुलिस थाना को या संबंधित पुलिस अधिकारी को सूचित किया जाए। इस अवसर पर बैठक में भाग लेनेवाले एवं सभी पुलिस अधिकारियों के मोबाइल नंबर का भी आदान प्रदान किए गए। 

पुलिस उप महानिरीक्षक श्री विनय कुमार ने कहा कि यदि कोई भी संदिग्ध आदमी कहीं दिखता है तो उससे पूछताछ जरूर करें। यदि कहीं कोई संदिग्ध वस्तु दिखता है तो उससे छेड़छाड़ न करें बल्कि तुरंत पुलिस को सूचित करें। उन्होंने कहा कि बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर अतिरिक्त पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की जाएगी।

वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा ने सभी पुलिस अधिकारियों एवं थानाध्यक्षों को कई टिप्स दिए। उल्लेखनीय है कि आतंकवादियों द्वारा अब तक की गई साजिश में हमेशा नई तकनीकि का प्रयोग किया जाता रहा है।इसके पूर्व एक भंते के रूप में साजिश की गई थी जबकि दूसरी बार थरमस में विस्फोटक लगाकर रखा गया था। कभी शौचालय में छिपा कर रख दिया जाता है। इसलिए सभी संदिग्ध वस्तुओं एवं व्यक्तियों के प्रति एहतियात बरतना आवश्यक बताया गया।

बैठक में बीटीएमसी के सचिव श्री एन दोरजे, सिटी एसपी श्री सुशील कुमार, बोधगया के पुलिस उपाधीक्षक, मुख्य भिक्षु महाबोधि मंदिर भिक्षु चालिन्दा, होटल एसोसिएशन के प्रतिनिधि, टेंपो संघ के प्रतिनिधि, बोधगया के मोनेस्ट्री के प्रतिनिधिगण, संबंधित सभी थाना अध्यक्ष उपस्थित थे।



Editor prajapati

No comments:

Post a Comment