फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर अश्लील पोस्ट करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Wednesday, 15 May 2019

फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर अश्लील पोस्ट करने वाला आरोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे

भारत न्यूज लाइव 24 हर खबर आप तक 


ब्यूरो चीफ-: चेतन गुप्ता के साथ रिपोर्टर -//-भूपेंन्द्र पटेल 


अनूपपुर/ जिला अनूपपुर के पुलिस थाना चचाई द्वारा अपने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया की दिनांक 22 मार्च 2019 को फरियादिया संगीता पेंड्रम पिता रन्मत सिंह पेंड्रम उम्र 20 साल निवासी ग्राम कंचनपुर थाना करन पठार जिला अनूपपुर की रिपोर्ट दर्ज कराई की अज्ञात आरोपी मोबाइल धारक द्वारा फरियादियों एवं उसकी बहन की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर अश्लील मैसेज एवं फोटो पोस्ट किया गया है रिपोर्ट पर थाना चचाई में अज्ञात आरोपी मोबाइल धारक के विरुद्ध अपराध क्रमांक 104 /19 धारा 67,67a आईटी एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया दौरान विवेचना साइबर सेल अनूपपुर से फेसबुक आईडी चालक के विरुद्ध विस्तृत जानकारी प्राप्त की गई फेसबुक आईडी बनाने एवं अश्लील पोस्ट में प्रयुक्त आईपी ऐड्रेस मोबाइल नंबर के सर्विस प्रोवाइडर आईएमईआई घटना में प्रयुक्त मोबाइल फोन के संबंध में विस्तृत जानकारी मिलने पर जानकारी के आधार पर पुलिस अधीक्षक अनूपपुर के निर्देशन में निरीक्षक ऐडवर्ल्ड तिग्गा हमराही स्टाफ उप निरीक्षक अरविंद कुमार साहू उपनिरीक्षक प्रवीण कुमार साहू द्वारा अज्ञात आरोपी की पता तलाश की गई जो दिनांक 14 मई 2019 को आरोपी अमन दहिया पिता नरेश दहिया उम्र 23 वर्ष निवासी वार्ड नंबर 11 चेतना नगर अनूपपुर को गिरफ्तार किया गया आरोपी ने अपना जुर्म कुबूल कर घटना में प्रयोग किए गए अपने मोबाइल एवं सिम को बरामद करवाया आरोपी को पकड़ने में सागर से अनूपपुर प्रभारी आरक्षण 396 राजेंद्र अहिरवार की अहम भूमिका रही आरोपी को आज दिनांक 15 मई 2019 को माननीय न्यायालय के समक्ष न्यायिक रिमांड वास्ते पेश किया गया कारवाही फेसबुक व्हाट्सएप जैसी सोशल मीडिया पर अश्लील पोस्ट करने वालों के लिए उदाहरण है कि आरोपी चाहे कितने ही फर्जी तरीके से प्राप्त कर ले वह पुलिस से बच नहीं सकता ज्ञात हो कि वर्तमान समय के परिवेश में सोशल मीडिया का युग सा आ गया है जिसमें आए दिन इस तरह की घटनाएं उजागर होती रहती है परंतु कार्यवाही की कमी के कारण अज्ञात आरोपियों के हौसले बुलंद होते जा रहे थे अवश्य ही पुलिस की इस कड़ी कार्यवाही से इस तरह के अंजाम देने वाले आरोपियों में दहशत से सुधार की संभावना है!

No comments:

Post a Comment