आग लगने से माँ और मासूम बेटे की मौत पति भी झुलसा हालत गम्भीर!* - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Friday, 17 May 2019

आग लगने से माँ और मासूम बेटे की मौत पति भी झुलसा हालत गम्भीर!*

*हर खबर आप तक*

   *भारत न्यूज लाइव*

              *24*

    *पी सी पाण्डेय*

        *की रिपोर्ट*

  *(लालापुर प्रयागराज)*

~~~~~~~~~~~~

👉🏻 *आग लगने से माँ और मासूम बेटे की मौत पति भी झुलसा हालत गम्भीर!*

✍लालापुर: गुरूवार की देर शाम लालापुर थाना क्षेत्र के छतहरा गांव निवासी 25 वर्षीय युवती समेत उसके सात माह का अबोध बालक गंभीर रूप से झुलस गया। जिसे बचाने में 30 वर्षीय पति भी झुलस गया। इलाज के दौरान मां बेटे की मौत हो गई जबकि युवक की हालत गंभीर बनी हुई है। 

छतहरा गांव निवासी सुशील सिंह उर्फ खूंटी30 वर्ष पुत्र कौशलेंद्र सिंह की शादी 2017 में संध्या देवी पुत्री मोहन सिंह  निवासी भैसहाई शाहपुर जिला रीवां मध्य प्रदेश से हुई थी। दोनो के बीच सात माह का बेटा है। गुरूवार की देर शाम  संदिग्ध परिस्थितियों में संध्या देवी व उनका सात माह का बेटा झुलझ गया। जिन्हें बचाने में संध्या का पति सुशील  सिंह उर्फ खूंटी भी झुलस गया। परिजनों ने आनन फानन में इलाज के लिए एसआरएन में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान मां बेटे की मौत हो गई और सुसील की हालत नाजुक बनी हुई है।किसी ने लालापुर पुलिस को सूचना दी पुलिस के पहुँचने से पहले ही परिजन इलाज के लिए ले जा चुके थे ! परिजनों की माने तो संध्या खाना बनाते समय झुलस गई हालांकि खाना बनाते समय सात माह के अबोध को लेकर बैठना लोगों में एक चर्चा का विषय है। सुबह मामले की जानकारी मिलने पर मृतका संध्या का भाई प्रद्युम्न प्रताप सिंह पुत्र मोहन सिहं अपने रिश्तेदारों संग थाने पहुंचा जहां कई बार बहनोई सुशील सिंह पर शराब के नशे में धुत होकर मारपीट का आरोप लगाया। हालांकि मामले को लेकर दोनो पक्ष बातचीत करने में जुटे हैं। पुलिस ने शव का पंचायतनामा भर अन्त्य परीक्षण को भेज दिया है। उक्त बावत थानाध्यक्ष रणजीत बहादुर सिंह से जानकारी ली गई तो उन्होंने कहा कि दोनो पक्ष वार्तालाप कर रहे हैं यदि शिकायती पत्र दिया जाता है तो गंभीरता से कार्रवाई की जाएगी। 

----------------------------

*दुनिया को देखने से पहले ही कह दिया विदा लालापुर थाना क्षेत्र के छतहरा गांव में संदिग्ध परिस्थितियो में आग से झुलसकर हुई मां बेटे की मौत से जहां परिजनों में कोहराम है तो वहीं ग्रामीणों की भी आंखे नम है। हर जुबान पर उस सात माह के अबोध बालक की चर्चा है जिसने अब तक दुनिया को नहीं देखा था और उसकी मां ही उसकी दुनिया थी। दुनिया को देखने से पहले उसकी हृदय विदारक मौत लोगों की आंखे नम कर रही है।*



Editor prajapati

No comments:

Post a Comment