Breaking News

शहडोल, एक ओर जहाँ शासन प्रशासन वोट डालने और मतदान के लिए मतदाता जागरूकता अभियान चला रही है वही एक सोडा फैक्ट्री में “रोड नहीं तो वोट नहीं ” का नारा जोर शोर से चल रहा है , ओपीएम अमलाई और सोडा फैक्ट्री अनूपपुर और शहडोल के मुख्य औद्योगिक क्षेत्र होने के बाद भी आजादी के बाद से जहाँ छोटे से छोटे गांव

भारत न्यूज लाइव 24 हर खबर आप तक रिपोर्ट @शहडोल ब्यूरो 


रोड नहीं तो वोट नहीं” “अबकी बार रोड की सरकार”


शहडोल,  एक ओर जहाँ शासन प्रशासन वोट डालने और मतदान के लिए मतदाता जागरूकता अभियान चला रही है वही एक सोडा फैक्ट्री में “रोड नहीं तो वोट नहीं ” का नारा जोर शोर से चल रहा है ,

ओपीएम अमलाई और सोडा फैक्ट्री अनूपपुर और शहडोल के मुख्य औद्योगिक क्षेत्र होने के बाद भी आजादी के बाद से जहाँ छोटे से छोटे गांव तक पक्की सड़क की पहुंच हो गयी है, वही सोडा फैक्ट्री के निवासी आज भी एक पक्की सड़क को तरस रहे है,

ओपीएम और सोडा फैक्ट्री ने अपने कॉलोनियों में पक्की सड़क तो बना ली और ग्रामवासियो के लिए कच्ची टूटी गड्ढे वाली सड़क छोड़ दिया , इन सडको से हजारो लाखो टन माल ट्रक से दिनरात ढुलाई होती है और उड़ते धुल मिटटी कीचड से आमजन को क्या तकलीफ है उन्हें कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता,

PWD के अधिकारी से लेकर प्रधानमंत्री तक को इस बाबत लिखित आवेदन दिया गया लेकिन नतीजा शून्य का शून्य ही रहा, प्रधानमंत्री कार्यालय से इस मसले को लेकर स्टेट गवर्मेन्ट को पत्र जारी कर इस मामले के निराकरण के लिए कहा गया लेकिन सरकार और सरकारी अधिकारियो का टाल मटोल जगजाहिर है किसी अधिकारी कर्मचारी ने कोई रूचि नहीं दिखाई,

इस मामले को लेकर जनप्रतिनिधियों को भी कई बार लिखित आवेदन दिया गया,

सभी ग्रामवासियो ने मिलकर इस बार निर्णय लिया की “रोड नहीं तो वोट नहीं ” किसी भी दल को वोट नहीं करना जबतक की रोड का कार्य पूरा न हो जाये,

ओपीएम के स्टेट बैंक से लेकर इंद्रा नगर सोडा फैक्टरी तक रोड नहीं बल्कि गड्ढे में रोड है , केल्होरी,अमलाई,बरगवां, सोडा फैक्टरी कुल मिलाकर लगभग १५ हजार वोटर होते है लेकिन किसी भी जान प्रतिनिधि ने इन लोगो के हक़ के लिए आवाज नहीं उठाई, चुनावी मौसम में वादे खूब तो खूब होते लेकिन चुनाव बाद “क्या हुआ तेरा वादा” बस यही गीत याद रह जाता है,

जनप्रतिनिधियों, सरकारी अधिकारियो और ओपीएम सोडा फैक्ट्री के मैनेजमेंट के सांठगांठ से ये मामला हमेशा दबा दिया जाता है लेकिन अबकी बार सभी लोगो ने मिलकर निर्णय लिया है की “अबकी बार रोड वाली सरकार” रोड नहीं तो वोट नहीं ” का नारा बुलंद किये बैठे है,


प्रशासन के उदासीनता देखते हुए सभी क्षेत्रवासियो ने “रोड नहीं तो वोट नहीं ” को लेकर संभाग आयुक्त , कलेक्टर अनूपपुर , कलेक्टर शहडोल से लेकर सभी वर्तमान व् पूर्व जनप्रतिनिधियों सहित प्रधानमंत्री कार्यालय तक लिखित ज्ञापन दिया है, ज्ञापन सौपने वालो में कालीचरण केवट , भगवन दास,विवेक पांडेय,नीलेश वैद्य,आर एन विश्वकर्मा,देवेंद्र शर्मा,महेंद्र शर्मा,सहित सैकड़ो क्षेत्रवासी द्वारा हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन सौंपा गया ,

No comments