रिस्ते में आये नकाब पोश बदमासो ने छीनी चैन - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Thursday, 18 April 2019

रिस्ते में आये नकाब पोश बदमासो ने छीनी चैन

करुणाकर द्विवेदी ब्यूरो चीफ जौनपुर


*भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खबर आप तक*


एक बदमास की बाइक बरामद!


बरसठी (जौनपुर) बरसठी थाना क्षेत्र के कटवार गांव में कल शाम लगभग छः बजे  एक रिश्तेदार अपनी बहन के घर छः सात नकाबपोश बदमासो के साथ बाइक से आया और अपने बहन के देवर रामकुमार पुत्र अमृत लाल के कनपटी पर असलहा सटाकर जान से मारने की धमकी देते हुए उसके गले से सोने की चैन खींच लिया ।रामकुमार के शोर मचाने पर जब आसपास के लोग जुटने लगे तो घबरा कर सभी नकाबपोश भागने लगे ।किसी ने एक नकाबपोश की फोटो भी मोबाइल से खींच ली।

घबराहट में भागते हुए एक बदमास की बाइक असंतुलित होकर गिर गयी ।वह उसे वहीं छोड़कर साथी की बाइक से भाग गया। मामले की सूचना पर पहुंची 100 पुलिस बाइक को अपने साथ थाने ले आयी ।भुक्तभोगी ने मामले की लिखित तहरीर थाने पर कल शाम को ही दे दिया था किंतु बरसठी पुलिस जांच कर कार्यवाही करने के नाम पर मामले में टाल मटोल कर रही है।


बताते चलें कि रामकुमार का जामिनि विवाद अपने भाई अनिल कुमार और भाभी मीनू से चल रहा है।रामकुमार के अनुसार उसकी भाभी ने कई बार राम कुमार को जान से मरवाने की धमकी खुले आम दे चुकी है।

भाभी के बुलावे पर ही कल उसके मायके से उसका भाई महेंद्र कुमार बेलवां बाजार और उसका साथी संतोष कुमार यादव अपने अन्य छः सात अन्य अपराधी किस्म के नकाबपोश साथियो के साथ घर पर आकर असलहे के बल पर जान से मारने की धमकी दिये ।ग्रामीणों के जुटने पर पकड़े जाने के डर से भाग खड़े हुए।


बरसठी पुलिस पूरे मामले से बनी रही अनभिज्ञ ।

बरसठी थाना प्रभारी वीरेंद्र बरवार से जब इस मामले में पूछा गया तो पहले तो पूरे मामले से ही अनभिज्ञता जताये लेकिन जब बताया गया कि कल शाम को ही नकाबपोश बदमासो की एक बाइक घटना स्थल से 100 नंबर की पुलिस थाने पर लायी है और नकाबपोश बदमास की फोटो भी है तब थाना प्रभारी ने कहा कि रिस्तेदार थे या बदमास।जांच कर कार्यवाही की जायेगी।


अहम प्रश्न ? यदि कटवार की घटना में रिश्तेदारी की बात थी या रिश्ते में कोई झगड़े की बात थी तो रिश्तेदारों को काले कपड़े में चेहरा छुपाने की क्या जरूरत थी।और जब गांव के लोग जुटने लगे तो रिश्तेदारों को भागने की क्या जरूरत थी ? बाइक छोड़कर क्यो भागे रिश्तेदार ? नकाबपोश बदमास (कथित रिस्तेदार) अपनी बाइक up 62 a b 1561 को छोड़कर भागने की क्या जरूरत थी।

मामले को क्यो दबाना चाह रही है बरसठी पुलिस ? 

कटवार और क्षेत्र की जनता जानना चाह रही है कि नकाबपोश लोग कौन थे ।किस मकसद से चेहरा छुपाकर रिश्तेदारी में आये थे । पकड़ी गयी बाइक किसकी है ? इन सब प्रश्नों का उत्तर क्षेत्रीय जनता बरसठी पुलिस से जानना चाहती है ।चौबीस घंटे बितने के बाद भी मामले में अभी तक पुलिस द्वारा कोई कानूनी कार्यवाही क्यो नही की गयी।

किसके दबाव में काम कर रही है बरसठी पुलिस ।किसको बचाना चाहती है पुलिस।जबकि प्रमाण पुलिस के कब्जे में है।

No comments:

Post a Comment