Breaking News

💥बिग बे्किंग अजयगढ 💥 अजयगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में मनमानी का सम्राज्य ✍✍✍✍✍✍ भारत सिंह यादव ब्यूरो रिपोर्ट पन्ना चिकित्सक कक्ष में लगा रहता है ताला, रोगियों को करना पड़ता है इंतजार

💥बिग बे्किंग अजयगढ 💥

अजयगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में मनमानी का सम्राज्य

✍✍✍✍✍✍

भारत सिंह यादव 

ब्यूरो रिपोर्ट पन्ना 

चिकित्सक कक्ष में लगा रहता है ताला, रोगियों को करना पड़ता है इंतजार 

अजयगढ़ = अजयगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में मनमानी का सम्राज्य कायम है, यहां कभी डॉक्टर समय पर नहीं पहुंचते हैं। कुछ डॉक्टर बिना छुट्टी लिए गायब बताए जाते हैं। मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दुर्घटना या सीरियस मरीजों के परिजनों द्वारा डॉक्टर का घंटों इंतजार करना पड़ता है। ऐसे में कई बेगुनाहों की जान जा चुकी है। कई बार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एल.के. अजयगढ़ एसडीएम, जिला कलेक्टर मनोज खत्री से की जा चुकी है। जिनके द्वारा परिसर का निरीक्षध कर समय पर उपस्थिति व चिकित्सा सेवाओं में लापरवाही बरदास्त नहीं करने की सख्त हिदायत दी गई। जिसका असर 2 या 2 दिनों ही रहा, और ढर्रे पर चल पड़े। वर्तमान में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अजयगढ़ के डॉक्टर बिना छुट्टी के ही गायब हो जाते हैं। जिसका उदाहरण 12 अप्रैल 2019 सुबह लगभग 10ः30 पर देखा गया, चिकित्सक कक्ष में ताला लटक रहा था, परिसर में रोगियों और उनके परिजनों की खचाखच भीड़ थी, लोग कराहते मारीजों के साथ बेसब्री से डॉक्टर का इंतजार कर रहे थे, डॉक्टर आने का नाम ही नहीं ले रहा थे, मीडिया कर्मियों के पहुंचने पर मोबाइलों का इस्तेमाल शुरू हुआ, पता चला कि ड्यूटी डाॅक्टर विनय चंदेल अदालत के काम पर हैं। बीएमओ के.पी. राजपूत का भी पता नही था, आनन-फानन में फील्ड ड्यूटी पर तैनात आयुर्वेद की असिस्टेंट मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर उमा गुप्ता को भेजा गया जिन्होंने मरीजों को देखना प्रारंभ किया आयुर्वेद की डॉक्टर नें अंग्रेजी दवाईयां लिख कर मरीजो को टालना प्रारंभ किया, विदित हो कि अस्पताल जैसी जगह पर ऐसी लापरवाही किसी की जिंदगी छीन सकती है। परंतु शायद यहां इसकी किसी को परवाह नहीं। सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि अजयगढ़ क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के डॉक्टरों को सालों से वित्तीय प्रभार नहीं सौंपा गया, इसके पीछे का कारण जांच का विषय है, कुछ लोगों का कहना है कि घपले उजागर होने के डर से किसी को वित्तीय प्रभार नहीं सौपा जा रहा, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अजयगढ़ के स्टाफ ने कई बार इनकी मनमानी का विरोध किया, परंतु ऊंची पहुंच रखने वाले बीएमओ अपने स्टाफ की आवाज को दबाने में काफी माहिर बताए जाते हैं। मीटिंग में व्यस्त होने के कारण सीएमएचओ पन्ना से बात नहीं हो सकी।

No comments