*नीतीश क्यों नहीं दे रहे गुजरात की तर्ज पर 10% गरीब स्वर्ण आरक्षण:- त्रिपाठी* रिपोर्ट: दिनेश कुमार पंडित 14 जनवरी 2019 बिहार के राजधानी पटना में हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (से0) के प्रदेश मीडिया प्रभारी अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुजरात की तर्ज पर बिहार में 10% गरीब स्वर्ण आरक्ष - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, 14 January 2019

*नीतीश क्यों नहीं दे रहे गुजरात की तर्ज पर 10% गरीब स्वर्ण आरक्षण:- त्रिपाठी* रिपोर्ट: दिनेश कुमार पंडित 14 जनवरी 2019 बिहार के राजधानी पटना में हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (से0) के प्रदेश मीडिया प्रभारी अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुजरात की तर्ज पर बिहार में 10% गरीब स्वर्ण आरक्ष

*नीतीश क्यों नहीं दे रहे गुजरात की तर्ज पर 10% गरीब स्वर्ण आरक्षण:- त्रिपाठी*
रिपोर्ट:
दिनेश कुमार पंडित
14 जनवरी 2019

     बिहार के राजधानी पटना में हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (से0) के प्रदेश मीडिया प्रभारी अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से गुजरात की तर्ज पर बिहार में 10% गरीब स्वर्ण आरक्षण बिल को लागू करने की मांग की है |
       त्रिपाठी ने कहा कि देश में और बिहार में जब दोनों जगह एनडीए की सरकार है | तो बिहार को 10% गरीब सवर्णों का आरक्षण को पहले देने में देरी क्यों हो रही है | नीतीश चाहते तो  गरीब सवर्णों को 10% आरक्षण देकर पूरे देश में बिहार को पहला राज्य बना कर इतिहास रच सकते थे | लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया | अभी भी समय है कि नीतीश कुमार दूसरे राज्यों से पहले 10% स्वर्ण आरक्षण को बिहार में लागू करें |
        त्रिपाठी ने कहा कि हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री जीतन राम मांझी ने गरीब सवर्णों को 15% आरक्षण देने की मांग करने वाले गैर स्वर्ण समाज के होते हुए भी सबसे पहले नेता थे | जिन्होंने गरीब सवर्णों के हित में 15% आरक्षण की मांग की थी | आज  जब 15% की जगह 10%  केंद्र की मोदी सरकार ने गरीब सवर्णों को आरक्षण दिया तो हमारे नेता श्री जीतन राम मांझी ने सबसे पहले इस पहल का समर्थन किया और स्वागत किया | लेकिन आज  बिहार में सत्ता में बैठे स्वर्ण समाज के नेता अपने आप को स्वर्ण समाज के नेता मानते हैं | तो वह स्वर्ण समाज को धोखा दे रहे हैं | गुजरात से पहले बिहार में स्वर्ण आरक्षण लागू हुआ होता तो लगता कि बिहार के सत्तारूढ़ दल के स्वर्ण समाज के नेता अपने समाज के गरीबों के लिए जागरूक हैं |
       त्रिपाठी ने कहा कि  सत्ता में बैठे स्वर्ण समाज के नेताओं से तो कई गुना अच्छा हमारे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी हैं | जो गरीब सवर्णों की आरक्षण की बात खुलकर करते हैं |  स्वर्ण समाज के नेता सत्ता में बैठकर सिर्फ अपना गोटी लाल करने के  चिंता में लगे हुए हैं |  उन्हें गरीब सवर्णों की कोई चिंता नहीं | क्या चुप रहने से गरीब सवर्णों का भला होगा | वह गरीब सवर्णों को बिहार में 10% सवर्णों की आरक्षण दिए जाने की पहल करें | अन्यथा गरीब स्वर्ण समाज के लोग इन नेताओं को कभी माफ नहीं करेंगे |
       त्रिपाठी ने कहा कि बिना देर किए हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में गरीब सवर्णों के 10% आरक्षण को लागू करें | अन्यथा  उसका परिणाम आने वाले लोकसभा चुनाव में उन्हें दिखाई देगा ।

No comments:

Post a Comment