*सिंगरौली--अँधे कत्ल का खुलासा* जियावन थाने के चौराडॉड़ में मिली लाश के मामले का हुआ खुलासा, हरिवंश पटवा और उसका सगा भाई ज्ञानेंद्र पटवा पिता हरिशंकर पटवा निवासी पुराना बस स्टैंड नौढिया(देवसर) के निवासी हैं आरोपी, मृतिका हँसीबुन निशा मऊगंज जिला रीवा की थी निवासी, - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, 21 December 2018

*सिंगरौली--अँधे कत्ल का खुलासा* जियावन थाने के चौराडॉड़ में मिली लाश के मामले का हुआ खुलासा, हरिवंश पटवा और उसका सगा भाई ज्ञानेंद्र पटवा पिता हरिशंकर पटवा निवासी पुराना बस स्टैंड नौढिया(देवसर) के निवासी हैं आरोपी, मृतिका हँसीबुन निशा मऊगंज जिला रीवा की थी निवासी,

*सिंगरौली--अँधे कत्ल का खुलासा*

जियावन थाने के चौराडॉड़ में मिली लाश के मामले का हुआ खुलासा,
हरिवंश पटवा और उसका सगा भाई ज्ञानेंद्र पटवा पिता हरिशंकर पटवा निवासी पुराना बस स्टैंड नौढिया(देवसर) के निवासी हैं आरोपी,
मृतिका हँसीबुन निशा मऊगंज जिला रीवा की थी निवासी,

आरोपी हरिवंस पटवा, हँसीबुन निशा के साथ रहता था सालों से साथ,

आपसी पारिवारिक कलह के कारण दोनों आरोपियों ने किया हँसीबुन निशा का कत्ल,

दोनों भाइयों ने हत्या की बनाई थी योजना,
08-12 को दोनो आरोपी हँसीबुन निशा के साथ आये थे अहमदाबाद से बरगवां,
भाई ज्ञानेंद्र पटवा बरगवां से चला आया था देवसर,
आरोपी हरिवंश दूसरे दिन बरगवां से आया था देवसर,
बस से उतरा था चौरा डॉड़ जंगल के पास,
फिर अपने भाई ज्ञानेंद्र को बुलाया था जंगल,
दोनो ने साथ मे मिल कर चोट पहुँचा कर और गला दबाकर की थी हँसीबुन निशा की हत्या,
हत्या करने के बाद आरोपी हरिशंकर भाग रहा था अहमदाबाद, बम्बई, और दमन

SP रियाज इकबाल,ASP प्रदीप शिंदे, के निर्देश में जियावन TI अनिल उपाध्याय और उनकी पुलिस टीम ने साइबर सेल के सहयोग से सफलता,

No comments:

Post a Comment