शोहदों को सबक सिखाने के साथ ही किसी भी तरह की अनहोनी का सामना करने के लिए युवतियों को मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाया जा रहा है। - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, 4 December 2018

शोहदों को सबक सिखाने के साथ ही किसी भी तरह की अनहोनी का सामना करने के लिए युवतियों को मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाया जा रहा है।

गोरखपुर न्युज - - जय प्रकाश प्रजापति - गोरखपुर ब्युरो--शोहदों को सबक सिखाने के साथ ही किसी भी तरह की अनहोनी का सामना करने के लिए युवतियों को मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाया जा रहा है। 

उन्हें पूरी कानूनी जानकारी देने के साथ सुरक्षा से जुड़े उनके अधिकार बताए जा रहे हैं। यह हो रहा है उत्तर प्रदेश पुलिस की 1090 द्वारा आयोजित पिंक बेल्ट मिशन की कार्यशाला के जरिये।


सोमवार को गोरखपुर विश्वविद्यालय के दीक्षा भवन के आडिटोरियम में पिंक बेल्ट मिशन कार्यशाला का आयोजन किया गया। पिंक बेल्ट मिशन की संस्थापक अपर्णा राजावत ने लड़कियों को प्रशिक्षण दिया।


उन्होंने कहा कि लड़कियां अपने आपको कमजोर मानना बंद करें। आप लड़की हो, आप ये नहीं कर सकतीं, वो नहीं कर सकती जैसी बातें समाज के बहुत से लोग करते हैं। इसकी वजह से बहुत बार लड़कियां गलत को गलत कहने में भी डरती हैं। डरें नहीं, अपनी सुरक्षा, स्वाभिमान, अभिमान के लिए खड़ा होना सीखें।

लड़कियां कैसे मानसिक रूप मजबूत बन सकती हैं उन्होंने इसके भी टिप्स दिए। इस दौरान प्रोजेक्ट हैड सत्यार्थ भदौरिया, एसपी रेलवे पुष्पांजलि, युनिसेफ से महेश्वरी अग्निहोत्री, सीओ आशुतोष सिंह आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम में भाग लेने वाली बनारस लड़कियों को विशेष प्रशिक्षण के लिए चुना जायेगा प्रशिक्षण के बाद वह इस शहर की अन्य लड़कियों को प्रशिक्षण दे उनको भी सबला बांयेगी


आप को कोई घूरता है तो वह भी अपराध है

अर्पणा ने बेटियों से कहा कि आपको लगातार घूरना भी अपराध है। अश्लील गाने-गाना, कमेंट करना भी अपराध है। उन्हें बताया कि किस धारा में कौन सा कृत्य अपराध है। उसके लिए पुलिस की वह कैसे सहायता लें सकती हैं। पुलिस से सहयोग न मिलने पर क्या करे। उन्होंने 1090 जैसी सेवा के बारे में भी बताया जिस पर शिकायत करने पर लड़कियों के नाम गुप्त रखे जाते हैं और कार्रवाई भी हो जाती है।

No comments:

Post a Comment