दानापुर में लगी भीषण आग लाखों की संपत्ति जलकर राख माझा संवाददाता कुमार अखिल मांझा : स्थानीय थाना के दानापुर गांव मे लगी अचानक आग से पुरे गांव मे अफरातफरी मच गई आज इतना तेजी से बढ़ रहा था कि देखते ही देखते 2 लोगों के घर जलकर खाक हो गई आग मे नेक महमद का दो घर तथा एक अनाज से बेरी जल कर खाक हो - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, 3 December 2018

दानापुर में लगी भीषण आग लाखों की संपत्ति जलकर राख माझा संवाददाता कुमार अखिल मांझा : स्थानीय थाना के दानापुर गांव मे लगी अचानक आग से पुरे गांव मे अफरातफरी मच गई आज इतना तेजी से बढ़ रहा था कि देखते ही देखते 2 लोगों के घर जलकर खाक हो गई आग मे नेक महमद का दो घर तथा एक अनाज से बेरी जल कर खाक हो

दानापुर में लगी भीषण आग  लाखों की संपत्ति जलकर राख

माझा संवाददाता कुमार अखिल

मांझा  : स्थानीय थाना के दानापुर गांव मे लगी अचानक आग से  पुरे गांव मे अफरातफरी मच गई आज इतना तेजी से बढ़ रहा था कि देखते ही देखते 2 लोगों के घर जलकर खाक हो गई आग मे नेक महमद का दो घर तथा एक अनाज से बेरी जल कर खाक हो गई जिसमे काफ़ी मात्रा मे अनाज भरी थी  पांच हजार रुपया एवं कपड़ा सहित अन्य सामग्री जो घर के अंदर था सब जलकर खाक हो गया वही बताया जा रहा है की बगल के पड़ोसी रहीम हवारी का भी घर जला उनके घरों मे भी आठ हजार रुपया नगद दो घर और एक बेरी जल कर खाक हो गई है जिसमे काफ़ी अनाज रखा हुआ था आज इतना तेजी से बढ़ रहा था कि स्थानीय अंचलाधिकारी  आदित्य कुमार दास के द्वारा फायर ब्रिगेड की गाड़ी बुलाई गई  फायर ब्रिगेड के गाड़ी के द्वारा आग को बुझाया गया शाम का समय होने के कारण गांव के सभी लोग बाजार की तरफ चले गए थे गांव पूरा खाली पड़ा हुआ था इसी बीच आग लग गई और दो घर जलकर खाक हो गई वही  प्रशासन की तो थाना से कोई नहीं आया जबकि ब्लॉक से आए सी ओ के तरफ से तिरपाल एवं खाद सामाग्री मुहैया कराने की बात कही गई मौके पर मौजूद पंचायत के मुखिया अशोक साह ने बताया की अचानक आग लगी लोगो की अनुपस्थिति थी जिसके वजह से कुछ ज्यादा ही नुकसान हो गया सामान जो घर से बाहर नहीं निकल सका अन्यथा समय रहते कुछ समान बचाया जा सकता था वही उन्होंने यह भी कहा की हम लोग जो छति हुई है उसको अपने तथा प्रशासन के द्वारा पूरा करने की कोशिश कर रहे है घर जाने के बाद खुले आसमान के नीचे रहने पर विवश हैं लोग

No comments:

Post a Comment