*_ससुराल पक्ष के लोगों ने महिला का गला घोंटकर उतारा मौत के घाट_* *_प्रयागराज थाने की पुलिस मोटी रकम लेकर मामले को दबाने में लगी है_* लाल बाबू मिश्रा पुत्र राम आधार मिश्रा निवासी टोकबा ककराही थाना खीरी जनपद प्रयागराज की बहन ममता तिवारी का विवाह 10 - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Thursday, 20 December 2018

*_ससुराल पक्ष के लोगों ने महिला का गला घोंटकर उतारा मौत के घाट_* *_प्रयागराज थाने की पुलिस मोटी रकम लेकर मामले को दबाने में लगी है_* लाल बाबू मिश्रा पुत्र राम आधार मिश्रा निवासी टोकबा ककराही थाना खीरी जनपद प्रयागराज की बहन ममता तिवारी का विवाह 10

*_ससुराल पक्ष के लोगों ने महिला का गला घोंटकर उतारा मौत के घाट_*

*_प्रयागराज थाने की पुलिस मोटी रकम लेकर मामले को दबाने में लगी है_*

लाल बाबू मिश्रा पुत्र राम आधार मिश्रा निवासी टोकबा ककराही थाना खीरी जनपद प्रयागराज की बहन ममता तिवारी का विवाह 10 वर्ष पूर्व दयाशंकर तिवारी पुत्र श्याम सुंदर तिवारी निवासी गांव पांडर थाना बारा - जनपद प्रयागराज के साथ हुआ था विवाह के 10 वर्ष बीत जाने के बाद भी ममता तिवारी  के कोई संतान नहीं हुई थी वही मृतिका  के बहनोई दयाशंकर तिवारी पुत्र श्याम सुंदर तिवारी एवं घर के सभी परिजन आए दिन संतान की उलाहना दे कर प्रताड़ित किया  करते रहते थे और दूसरे विवाह की धमकी आये दिन देते रहते थे मृतका ममता तिवारी के द्वारा मायके में फोन के माध्यम से पूरी प्रताड़ित करने की बाते बताया करती थी और ये भी बताया कि दूसरी शादी करने की प्लानिंग कर रहे है । मृतिका ममता तिवारी को उसी का ससुर दयाशंकर तिवारी और सास गुलाब कली व ननद सीता देवी और पति कृपा शंकर तिवारी ये सभी लोग मिलकर सोची समझी साजिश के तहत दिनांक 3 दिसंबर 2018 की रात को गला दबाकर हत्या कर दी और मृतका के मायके में फोन करके सूचना दिया  कि तुम्हारी बहन की मृत्यु सड़क दुर्घटना में बाइक से गिरने की वजह से हो गई है मृतक का भाई मुंबई में था और मृतक के भाई के मोबाइल पर 4 दिसंबर 2018 को तकरीबन 2:00 बजे मृतिका के ससुराल से फोन करके बताया गया कि तुम्हारी बहन फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है मृतका के मायके पक्ष के लोग मौके पर पहुंचे तो ससुराल पक्ष के लोगो वारदात को अंजाम देने के बाद स्टोरी के तहत लाश को बाहर तखत पर रख दिया  था मृतका के भाई ने बताया कि लाश को देखकर ही लग रहा था कि हत्या कर दी गई है और साक्ष्य मिटाने का भरपूर प्रयास किया गया  । मृतिका के ससुराल के लोगों ने हत्या करने के बाद पुलिस को भी कोई सूचना नहीं दी और झूठी अफवाह फैला दी कि मृतिका ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है वहीं मृतक के मौसी का लड़का दिनेश कुमार शुक्ला ने थाना प्रभारी एवं पुलिस अधीक्षक को मुंबई से फोन करके घटना की सूचना दी और वही थाने की पुलिस मामले को  लीपापोती करने में लगी है और f.i.r. कायम होने के बाद भी अभी तक हत्यारों की नहीं की गई गिरफ्तारी सूत्रों ने बताया कि थाना प्रभारी ने हत्यारों से अच्छी खासी मोटी रकम ले ली है और हत्यारों का बचाव कर रहा है और मामले को लगा है दबाने में ।

No comments:

Post a Comment