Friday, 9 November 2018

मुजफ्फरनगर का नाम लक्ष्मी नगर रखने का वक्त आ गया है

मुजफ्फरनगर का नाम लक्ष्मी नगर रखने का वक्त आ गया है


मेरठ संगीत सोम के बयान से चढ़ा पारा पार्टी की ओर से नहीं आया कोई संकेत


मेरठ सरधना विधायक संगीत सोम ने मुजफ्फरनगर का नाम लक्ष्मी नगर रब ने की पैरवी कर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सियासत गरमा बीजेपी विधायक का कहना है कि लोगों को और से पुरानी मांग पर अमल करने का वक्त आ गया है हिंदू संस्कृति पर हमला करने वालों की निशानियां हटाई जानी चाहिए हालांकि अब तक पार्टी की ओर से ऐसा कोई संकेत नहीं आया है इलाहाबाद को प्रयागराज और फैजाबाद को अयोध्या घोषित करने के बाद तमाम जिलों में भी इस मुद्दे पर स्वर मुखर होने लगे हैं आधा दर्जन शहरों के नाम बदलने के लिए भाजपा के अंदर से भी मांगते हो गई है भाजपा विधायक हिंदूवादी नेता संगीत सोम का तर्क है कि 1633 में मुजफ्फर खान नामक नवाब के नाम पर उसका नाम मुजफ्फरनगर कर दिया था जबकि यह सरवटे परगना था उन्होंने कहा है कि कई वर्ष पहले शहर का नाम बदलने को बड़ा सम्मेलन भी किया गया था विधायक ने साफ कहा है कि लंबे समय तक हिंदू गौरव रहे स्थानों को निराशा बनाया गया इतिहासकारों ने भी तथ्यों को तोड़ा मरोड़ा आपको बता दें विधायक संगीत सोम सरधना नहीं बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में छाए हुए हैं और वह अपना कार्य बखूबी से निभा रहे हैं सरधना की जनता के साथ साथ वह पूरे मेरठ पर छाए हुए हैं और जनता दरबार मैं अपना कार्य बखूबी से निभा रहे हैं मेरठ की जनता व सरधना की जनता विधायक संगीत सोम से खुश नजर आ रही है


मेरठ मंडल ब्यूरो सुशील रस्तोगी

No comments:

Post a Comment