*बिहार में विद्यापति पर्व समारोह में बोले नीतीश, मिथिला के विकास के बिना बिहार का विकास नहीं* रिपोर्टः दिनेश कुमार पंडित बिहार के मधुबनी में माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी ने आज विद्यापति पर्व समारोह के मुख्य कार्यक्रम की शुरुआत की. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विद्यापति न सिर्फ एक क - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, 22 November 2018

*बिहार में विद्यापति पर्व समारोह में बोले नीतीश, मिथिला के विकास के बिना बिहार का विकास नहीं* रिपोर्टः दिनेश कुमार पंडित बिहार के मधुबनी में माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी ने आज विद्यापति पर्व समारोह के मुख्य कार्यक्रम की शुरुआत की. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विद्यापति न सिर्फ एक क

*बिहार में विद्यापति पर्व समारोह में बोले नीतीश, मिथिला के विकास के बिना बिहार का विकास नहीं*
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित

बिहार के मधुबनी में माननीय  मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी ने आज विद्यापति पर्व समारोह के मुख्य कार्यक्रम की शुरुआत की. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विद्यापति न सिर्फ एक कवि थे बल्कि बड़े समाज सुधारक भी थे.मुख्यमंत्री ने मधुबनी के सौराठ में एक मिथिला चित्रकला संस्थान के निर्माण की घोषणा की जिसमें सर्टिफिकेट कोर्स भी शुरु किया जाएगा।आज समाज में टकराव का माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है, लेकिन इससे हमें बच कर रहना है. हम विकास के कार्य के साथ-साथ समाज सुधार के कार्यक्रम भी चलाते रहेंगे. उन्होंने कहा कि हमने शराबबंदी की जो शुरुआत की थी वो विद्यापति जी के समाज सुधार के कार्यक्रम को ही आगे बढ़ाया है. विद्यापति सिर्फ़ कवि ही नही थे बल्कि वो बड़े समाज सुधारक भी थे।
कार्यक्रम में खाली रही कुर्सियां, नहीं पहुंचे मुस्लिम कार्यकर्ता मुख्यमंत्री ने आयोजकों से विद्यापति पर्व समारोग को समाज सुधार के कार्यक्रम के तौर पर भी मनाने का भी आग्रह किया. उन्होंने कहा कि अगर वे आगे बढ़ेंगे तो सरकार पूरी मदद करेगी. मुख्यमंत्री ने मिथिला की समृद्ध संस्कृति को गौरवशाली बताते हुए कहा कि मिथिला पेंटिंग्स सिर्फ उसी क्षेत्र की पहचान नहीं है बल्कि पूरे बिहार की पहचान है. मिथिला की पहचान अंतरराष्ट्रीय स्तर तक है. जापान में भी मिथिला पेंटिंग्स का संग्रहालय बना हुआ है. उन्होंने कहा कि मिथिला के विकास के बिना बिहार का विकास पूरा नही हो सकता है. इस अवसर पर पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि कोशी महासेतु के समानांतर दो और पुल बनाने की तैयारी की जा रही है. उन्होंने उचैठ से उग्रतारा तक सड़क बनाने की भी घोषणा की. समारोह 23 नवंबर तक चले

No comments:

Post a Comment