बिहार के अन्तर्राष्ट्रीय ज्ञान भूमि बोधगया में बिहार - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, 17 November 2018

बिहार के अन्तर्राष्ट्रीय ज्ञान भूमि बोधगया में बिहार

*बिहार के अन्तर्राष्ट्रीय ज्ञान भूमि बोधगया में बिहार युवायों के स्थानीय लोगों के लिए रोजगार मिलने वाले पहला भारतीय पर्यटक संस्थान, यात्रा प्रबंधन संस्थान मगध विश्व विधालय बोधगया में खुलाःमैडम रश्मि  वर्मा*

रिपोर्टः

दिनेश कुमार पंडित

बिहार से

बिहार के अन्तर्राष्ट्रीय ज्ञान भूमि व  विश्व धरोहर बोधगया में खुला भारतीय  पर्यटन  संस्थान, व यात्रा प्रबंधन संस्थान मगध विश्वविद्यालय बोधगया  में बिहार के पहला स्थानीय युवायों बिहार युवा के सुनहरा  रोजगार भविष्य में बौद्ध स्थल धर्मावलम्बी देश के लोगों का यात्रा  एक महत्व  है  l भविष्य में यहाँ पर्यटकों  की संख्या में वृद्धि ही होगी l बोधगया एवं इसके आस -पास के स्थानों की  खूबियों को  उनकी भाषा में बताना एक बड़ी समस्या है l इसी बात को ध्यान में रखते हुए बोधगया में आईआईटीटीएम खोला गया ताकि यहाँ लोकल लड़के विश्व के विभिन्न भाषाओं को सीख  सकें  l उक्त बातें  पर्यटक सचिव रश्मि वर्मा ने बोधगया स्थितआईआईटीटीएम के शिविर कार्यालय के उद्घाटन के मौके पर कहीं l  उन्होंने कहा कि अभी चाइनीज भाषा की पढ़ाई शुरू कर दी गई है l डेढ़ महीने के कोर्स में लगभग 40 छात्रों ने नामांकन ले  लिया है l इससे पहले मगध विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार के सामने आई  एचएम की बिल्डिंग में   शिविर कार्यालय के उद्घाटन से पहले वृक्षारोपण भी किया गया l कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्जवलित कर किया गया l   आईटीटीएम के बोधगया शिविर कार्यालय में पर्यटन क्षेत्र के बढ़ावा  के लिए विभिन्न  पाठ्यक्रमों का  प्रशिक्षण  प्रदान करने के लिए इस क्षेत्र का आईआईटीटीएम  बोधगया बिहार का पहला केंद्र है l बोधगया के अलावा पर्यटन मंत्रालय के आईटीटीएम के कार्यालय ग्वालियर भुनेश्वर , नोएडा नेल्लोर गोवा और शिलांग में है l यात्रा प्रबंधन में  एमबीए प्रशिक्षण क्षमता निर्माण कार्यक्रम के अलावा पर्यटन और यात्रा में बीबीए प्रदान करती है l पर्यटन उद्योग के लिए कुशल और गुणवत्ता वाले जनशक्ति बनाने के प्रयास से निरंतरता में शिविर केंद्र इस क्षेत्र में युवाओं की रोजगार और आय को  को बढ़ाएगा l मौके पर रवि परमार प्रधान सचिव, पर्यटन विभाग, ज्ञान भूषण, आर्थिक सलाहकार, पर्यटन मंत्रालय ,प्रोफेसर एसके लंका, निदेशक, आईआईटीटीएम , के साथ अन्य गणमान्य लोग  स्थानीय लोग  मौजूद थे l

No comments:

Post a Comment