गंडक नदी में नहीं मिला अनीष का सुराग, पल-पल बढ़ता गया परिजनों का आक्रोश. - BHARAT NEWS LIVE 24

WEB TV

https://www.youtube.com/channel/UCMC0tYOO3NuROBFSlfFklXg

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, 19 November 2018

गंडक नदी में नहीं मिला अनीष का सुराग, पल-पल बढ़ता गया परिजनों का आक्रोश.

-गंडक नदी में नहीं मिला अनीष का सुराग, पल-पल बढ़ता गया परिजनों का आक्रोश.

वारदात. डॉग स्क्वॉयड और फॉरेंसिक टीम देर शाम तक करती रही जांच 

स्थानीय गोताखोरों ने की नदी में तलाश, अब बुलायी गयी एनडीआरएफ  

अनीष के साथ अनहोनी होने का शक, गम और गुस्से में पीड़ित परिजन 


कैमरे की नजर में@भारत न्यूज़ लाइव  24

फोटो न. 21 घटना स्थल पर जांच करती फॉरेंसिक टीम 

फोटो न. 22 डुमरिया घाट सेतु पर हंगामा के बाद जाम 

फोटो न. 23 जाम में फंसे विदेशी पर्यटक पैदल जाते 

फोटो न. 24 नाव के सहारे लापता युवक को ढूंढते गोताखोर 

फोटो न. 25 एनएच 28 पर लगा लंबा जाम 

फोटो न. 26 डुमरिया सेतु पर जांच करती डॉग स्कवॉयड टीम 



रवि रंजन कुमार महेंद्र, महम्मदपुर 

डुमरिया सेतु पर बाइक सवार युवक के साथ लूटपाट करने के बाद उसे गंडक नदी में फेंके जाने से परिजनों का पल-पल आक्रोश बढ़ता गया. नदी में लापता हुए अनीष कुमार पांडेय का कोई सुराग नहीं मिलने पर नराज परिजनों ने हाईवे को जाम कर दिया. डुमरिया सेतु पर एनएच 28 जाम करने के दौरान समझाने पहुंची पुलिस से नोकझोंक हुई. स्थिति को देखते हुए पुलिस अधीक्षक राशिद जमां ने पर्याप्त संख्या में पुलिस बलों को मौके पर बुला ली. उधर, मुजफ्फरपुर से पहुंची फॉरेंसिक टीम ने घटना स्थल पर बाइक और पुल की रेलिंग पर पड़े निशान का नमूना लिया. सोमवार को शाम में पहुंची डॉग स्क्वॉयड टीम ने सेतु और नीचे इलाके में जांच की. करीब तीन घंटे की जांच में पुलिस को लापता अनीष के बारे में कोई सुराग नहीं मिला. देर शाम तक पुलिस को एनडीआरएफ की टीम के पहुंचने का इंतजार था. पुलिस का आशंका है कि नदी में युवक को फेंका गया है तो, उसका शव आसपास के इलाके में ही होगा, इसलिए स्थानीय गोताखोर के बाद एनडीआर की टीम को बुलायी गयी. एएसपी विनय तिवारी के नेतृत्व में पुलिस टीम वारदात की एक-एक बिंदुओं पर जांच करने में जुटी हुई थी. समाचार लिखे जाने तक घटना में पुलिस को अनीष तक पहुंचने के लिए कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लग सका था. 


ससुर की तबियत खराब होने पर जा रहा था ससुराल 

बरौली के अघेजी निवासी अनीष कुमार पांडेय के परिजनों ने बताया कि ससुर की तबियत अचानक खराब होने की सूचना मिलने पर सोमवार की सुबह अपने ससुराल मोतिहारी के अरेराज जा रहा था. परिजनों से बातचीत करने के बाद अनीष बाइक से निकला था, लेकिन रास्ते में ही अपराधियों ने लूटपाट की घटना को अंजाम देकर उसे गंडक नदी में फेंक दिया. 


अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी गठित

अपर पुलिस अधीक्षक विनय तिवारी ने कहा कि अपराधियों की तलाश के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया है. पुलिस टीम अलग-अलग बिंदुओं पर जांच कर रही है. संदेह के आधार पर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जा रही है. एएसपी ने परिजनों से पुलिस की कार्रवाई में मदद करने की अपील की है. 


डुमरिया सेतु पर लगा जाम, दिल्ली-असम को जोड़ने वाली लाइफलाइन पर परिचालन रहा बाधित  

बोधगया से कुशीनगर जानेवाले विदेशी पर्यटक भी जाम में फंसे

सुबह से जाम के बाद दोपहर में वनवे को पुलिस ने कराया चालू 

संवाददाता, महम्मदपुर 

 डुमरिया सेतु पर बाइक सवार युवक से लूटपाट करने के बाद अपराधियों ने गंडक नदी में फेंक दिया. इस घटना से गुस्साये परिजनों ने डुमरिया सेतु पर एनएच 28 को जाम कर दिया है. एनएच 28 जाम किये जाने के कारण दिल्ली से असम को जोड़ने वाली लाइफलाइन पर वाहनों का परिचाजन ठप हो गया. बोधगया से कुशीनगर जानेवाले विदेशी पर्यटक भी जाम में घंटों फंसे रहें. जाम के कारण महम्मदपुर चौक से लेकर मोतिहारी जिले तक ट्रकों की लंबी कतार लग गयी. सुबह से लोगों ने सड़क को जाम कर हंगामा शुरू कर दिया था. जिसके कारण वाहनों की लंबी कतार लग गयी. उधर, पुलिस ने डुमरिया सेतु पर वनवे को चालू कराया. देर शाम तक डुमरिया सेतु पर वाहनों को एक-एक कर पार कराया जा रहा था. 



सिसकियों के बीच भाई का इंतजार करती रह गयी बहन

बघेजी गांव में पसरा सन्नाटा, सदमे में डूबे परिजन 


बरौली थाना क्षेत्र के बघेजी गांव निवासी सुकांत पांडेय के पुत्र अनीष कुमार पांडेय के साथ डुमरिया सेतु पर वारदात होने के बाद परिजनों में अनहोनी होने की आशंका से बेचैनी बढ़ गयी है. अनीष की बहन अपने भाई की तसवीर लेकर सिसकियों के बीच इंतजार कर रही है. सोमवार को पूरे दिन गांव में सन्नाटा पसरा रहा. घर पर छोटे-छोटे बच्चे थे, जो खेलने में मशगुल थे. परिवार के सभी सदस्य डुमरिया सेतु पर अपने लाल को ढृंढने के लिए सुबह में ही निकल गये थे. पांडेय परिवार इस समय सदमे में डूबा हुआ है. परिवार के सदस्यों को तनिक भी एहसास नहीं हुआ था कि रास्ते में अपराधियों द्वारा इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दे दिया जायेगा. गांव के प्रशांत सिंह व पूर्व उप मुखिया पिन्टू कुमार बताते हैं कि अनीष शांत स्वाभाव का मिलनसार लड़का था. विदेश से एक माह पहले ही घर आया था. अनीष के लापता होने से गांव के लिए भी मर्माहत थे. लापता युवक का छोटा भाई कार्यपालक सहायक के पद पर बरौली प्रखंड में कार्यरत है. परिजनों के मुताबिक छठ पूजा में घर आया था. अनीष के दो पुत्री 10, और सात वर्ष की हैं. पत्नी लुस्सी सिंह भी बेसूद पड़ी हैं. 


लापता युवक के पिता शेर हाइस्कूल में हैं शिक्षक 

लापता अनीष के पिता सुकांत पांडेय शेर हाई स्कूल में शिक्षक हैं. घटना के दिन पिता अपने घर पर थे. सूचना मिलने के बाद से डुमरिया सेतु पर ही देर शाम तक बेटे की तलाश में जुटे रहे. पुलिस ने भी पीड़ित पिता से पूछताछ की है. परिजनों से घटना की पूरी जानकारी लेने के बाद पुलिस अपराधियों की तलाश में छापेमारी कर रही है. 


ससुर की तबियत खराब होने पर जा रहा था ससुराल 

बरौली के बघेजी निवासी अनीष कुमार पांडेय के परिजनों ने बताया कि ससुर की तबियत अचानक खराब होने की सूचना मिलने पर सोमवार की सुबह अपने ससुराल मोतिहारी के अरेराज जा रहा था. परिजनों से बातचीत करने के बाद अनीष बाइक से निकला था, लेकिन रास्ते में ही अपराधियों ने लूटपाट की घटना को अंजाम देकर उसे गंडक नदी में फेंक दिया. 



पल-पल बढ़ता गया परिजनों का आक्रोश 

6.10 बजे : अनीष के पिता के पास मारपीट कर लूटपाट करने का कॉल आया 

6.15 बजे : अनीष का मोबाइल बंद हो गया. परिजन घटना स्थल पर निकले

6.29 बजे : सिधवलिया थाने में परिजनों ने घटना की पूरी जानकारी दी

6.48 बजे : महम्मदपुर थाने की पुलिस घटना स्थल पर पहुंचकर जांच शुरू की

6.56 बजे : लापता अनीष के रिश्तेदार और पिता भी घटना स्थल पर पहुंच गये  

7.12 बजे : लापता युवक के लिए परिजनों की भीड़ डुमरिया सेतु पर जुटने लगी

7.25 बजे : एससपी समेत अन्य थानों की पुलिस ने पहुंचकर घटना की जांच की

7.35 बजे : मोतिहारी से भी पुलिस पहुंचकर घटना की जांच करने में जुट गयी

7.42 बजे : परिजनों ने डुमरिया सेतु पर एनएच 28 को जाम कर हंगामा शुरू किया 

7.52 बजे : परिजनों के बीच पुलिस से डुमरिया सेतु पर हल्की नोकझोंक भी हुई.

8.10 बजे : स्थानीय गोताखोरों की मदद से नाव से डुमरिया में तलाशी शुरू की गयी

8.42 बजे : विदेशी पर्यटकों की कई गाड़ियां जाम में फंस गयी, जिससे पुलिस परेशान हो गयी

10.15 बजे : फॉरेंसिक व डॉग स्क्वॉयड टीम को जांच के लिए टीम को बुलायी गयी

11.10 बजे : पुलिस अधीक्षक राशिद जमां भी घटना स्थल पर पहुंच गये और जांच की

11.20 बजे : परिजनों ने जाम को मुक्त किया, जिसके बाद वनवे चालू किया गया

12.30 बजे : एनडीआरएफ की मांग करते हुए टीम को डुमरिया बुलायी गयी

1.10 बजे : दोपहर में परिजनों ने फिर हंगामा शुरू कर दिया और नारेबाजी की

2.30 बजे : फॉरेंसिक टीम ने घटना स्थल पर जांच शुरू कर दी. फिंगर प्रिंट लिया

3.30 बजे : डॉग सक्वॉयड की टीम भी पहुंच गयी, डुमरिया पुल पर जांच शुरू कर दी गयी

4.12 बजे : पुलिस ने डुमरिया पुल के पास घटना स्थल को जांच के लिए सील कर दिया

5.12 बजे : परिजन डुमरिया पुल पर ही लापता युवक की खोजबीन करने के लिए जुटे रहे

5.30 बजे : स्थिति को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस बल को डुमरिया सेतु पर बुला लिया गया

6.10 बजे : महम्मदपुर थाने की पुलिस घटना की जांच करने में सेतु पर ही कैंप की हुई थी. 

6.40 बजे : परिजनों के साथ महिलाएं पुलिस से गुहार लगाने के लिए अधिकारियों के पास पहुंची.

No comments:

Post a Comment