रोड पर सजते हैं दुकान प्रत्येक दिन लगता है जाम बाइक तो दूर .पैदल चलना है मुश्किल माझा मे , - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Monday, 19 November 2018

रोड पर सजते हैं दुकान प्रत्येक दिन लगता है जाम बाइक तो दूर .पैदल चलना है मुश्किल माझा मे ,

रोड पर सजते हैं दुकान  प्रत्येक दिन लगता है जाम बाइक तो दूर .पैदल चलना है  मुश्किल माझा मे

,


  रिपोर्टर 

अखिल श्रीवास्तव


माझा : बाजार की सड़कों पर सब्जी, ठेला, फल की दुकानें , गुमटी खोलकर दुकान सज जाती है. दुकानें सजने के बाद बाजार में प्रतिदिन जाम लग जाता है. जिसके चलते राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सोमवार को सुबह से ही नई बाजार की सड़कें  पर घंटों  जाम लगा रहा जाम मद्धेशिया चौक से पोस्ट ऑफिस, अंबेडकर चौक से सेंट्रल बैंक तक एवं सेंट्रल बैंक से स्टेट बैंक  तक सैकड़ों गाड़ी तथा हजारों लोग जाम में फंसे रहे. जाम की वजह से घंटों  रफ्तार थम गयी थी इससे ग्रामीण क्षेत्र से आए लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. वहीं इस महा जाम में स्कूल के बच्चे भी फंसे रहे. स्कूल के लिए सुबह से ही घर से निकले बच्चे फॉर्म भरने के लिए घर से निकले थे  एक तो माझा बाजार खुद ही घना बाजार है.उसमें भी सड़कों पर दुकाने सज जाती हैजिससे बाजार में काफी भीड़ जमी रहती है कुछ ग्रामीण  रोड पर ही गाड़ी लगाकर समान खरीदारी करने लगते हैं जिससे बड़ी गाड़ी जाम में फस जाती है और घंटो जाम लगा रहता है रोड पर दुकानदारों के द्वारा लगतार  अतिक्रमण किया जा रहा है लेकिन प्रशासन चुप्पी साधे हुए हैं प्रशासन के कुछ नहीं बोलने से दुकानदार आधा रोड पर दुकान सजा देते हैं और आधे पर लोग गाड़ी साइकिल लगाकर रोड जाम कर देते हैं जिससे काफी परेशानी में लोग आ जाते हैं फिर भी प्रशासन चुप है वही दुकानदार घूमती ठेला अतिक्रमण कर रहे है हालांकि थाना अध्यक्ष मनीष कुमार ने सभी दुकानदारों को बैठक बुलाकर इससे निजात दिलाने की कोशिश की थी लेकिन छठ पर्व बीत जाने के बाद भी प्रशासन के द्वारा कोई कदम नहीं उठाएगा जिससे प्रतिदिन बाजार में जाम लगा रहता है

 लेकिन प्रशासन को कोई फिक्र नहीं है. प्रशासन की लापरवाही से यहां आए दिन जाम लगता है. यदि प्रशासन सड़क किनारे ठेला, सब्जी दुकान,फल दुकान लगने पर प्रतिबंध लगा दे. और इन सभी दुकानों को सब्जी मंडी में लगवा दे तो यह समस्या कभी उत्पन्न नहीं होगा और आम लोगों को काफी राहत मिलेगी

No comments:

Post a Comment