ज्योतिरादित्य सिंधिया के आने से विरोधियों के छूटे पसीने न रहेगी आधी ना चलेगा तूफान अब चलेगा पंजा का निशान - BHARAT NEWS LIVE 24

WEB TV

https://www.youtube.com/channel/UCMC0tYOO3NuROBFSlfFklXg

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, 17 November 2018

ज्योतिरादित्य सिंधिया के आने से विरोधियों के छूटे पसीने न रहेगी आधी ना चलेगा तूफान अब चलेगा पंजा का निशान

ज्योतिरादित्य सिंधिया के आने से विरोधियों के छूटे पसीने


न रहेगी आधी ना चलेगा तूफान अब चलेगा पंजा का निशान


हजारों की संख्या में जनता ने दिया सिंधिया जी को आश्वासन अबकी बार कांग्रेस सरकार


करैरा ब्रेकिंग न्यूज

करैरा/करैरा के अंतर्गत आने वाला हर कांग्रेस कार्यकर्ता की जुबान पर ज्योतिरादित्य सिंधिया जिंदाबाद के नारे लगाए और अबकी बार कांग्रेस सरकार की हवा चौतरफा चल रही है जिसमें समस्त क्षेत्र की जनता हजारों की तादाद में देखी गई ऐसी जनसंख्या कभी किसी प्रोग्राम में नहीं देखी गई जो सिंधिया जी को सुनने के मूड में आये वह दंग रह गया चारों ओर सिंधिया जी की हवा मध्य प्रदेश में चल रही है गलियारों में गूंज रही है ऐसी हवा जो बदलाव चाहती है जनता का मूड बन गया है बदलाव का बीजेपी के शासन में महंगाई इतनी ऊपर पहुंच गई है कि हर आदमी की कमर टूट गई है इतना टैक्स का बोझ डाल दिया है हर नागरिक के ऊपर दुकानों पर चीज लेने के लिए जाते हैं तो  बदले में टैक्स भी जोड़ा जाता है पीछे और घर आने पर नरेंद्र मोदी जी को कोसा जाता है नरेंद्र मोदी ने ऐसी हवा चलाई हर आदमी के पैर उखड़ गए ऐसे पेर उखड़े कि अभी तक जमीन पर नहीं टिक सके जो टैक्स देने के काबिल नहीं है वह गरीब आदमी आम मजदूर  दुकान पर कपड़ा खरीदने जाता है तो उस पर भी टैक्स लगा कर दिया जाता है मैं पूछना चाहता हूं उस बीजेपी शासन से जो बातें करती है सबका साथ सबका विकास मैं पूछना चाहता हूं उन नौजवानों से जिनके साथ जिंदगी का खिलवाड़ किया जा रहा है ऐसा खिलवाड़ लाखों रुपए खर्च करने के बावजूद भी नौजवान अपनी नौकरी तलाशने के काबिल ना रहे मैं पूछना चाहता हूं भाइयों से उन किसानों से जो आज महंगाई की मार झेल रहे हैं अरे विधायक मंत्री बनने के बावजूद भी शासन सत्ता का पूरा लाभ ले रहे हैं और आम लोगों से कहा जाता है कर्मचारियों का कहना है कि आप शासन की योजनाओं का लाभ नहीं ले सकते मैं पूछना चाहता हूं करोड़पति मंत्रियों विधायकों को शासन की तरफ से क्यों लाभ दिया जाता है क्या आपके पास किसी प्रकार की गरीबी रेखा का कार्ड है या अन्तोदय का कार्ड है मैं पूछना चाहता हूं उन नेताओं से जो शासन का पैसा का उपयोग कर रहे हैं जिंदगी बिता रहे हैं इनके पास तो  बीपीएल का कार्ड भी नहीं है फिर शासन का पैसा का लाभ ले रहे हैं 1 महीने 

की तनखा इस गरीब के हक में लगा देते तो इस देश का भला हो जाता और बात करते हैं मेक इन इंडिया की उन ग्रामीण इलाकों में जा कर देखिए जो आज भी दो रोटी के लिए परेशान हो गए बीजेपी शासन कहती है इंडिया को टॉप पर लाएंगे मैं पूछना चाहता हूं मैं नेताओं से मैं पूछना चाहता हूं श्रीमान नरेंद्र मोदी जी से नोट बंदी का क्या लाभ मिला इस देश को कितना कर्जा पटा दिया जनता से मीठी मीठी बातें करके सत्ता में आई इस बीजेपी शासन को अब हटाने का वक्त आ गया है समस्त जनता जनार्दन एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं इस देश के बारे में सोचो हिंदू हिंदू को लडवाने के लिए नहीं है भाई भाई बनाने के लिए है कांग्रेस पार्टी में  कौन कहता है कि हिंदू नहीं है क्या हिंदू केवल बीजेपी में ही है हिंदू कांग्रेस में नहीं है मैं बीजेपी वालों से यह कहना चाहता हूं हिंदू हिंदू मत लडबाऐ देश में ऐसा बीज मत बोईऐ


,,कबीर जी कहते हैं,,


ऐसी बानी बोलिए मन

 का आपा खोय ,, औरन को शीतल करे आप हो शीतल होय,,


सत्ता की लालच में यह मत सोचिए हम कुछ भी बोलते रहे हैं और जनता सब सुनती रहे अरे मोदी जी किस देश का नागरिक सब जानता है इस देश का नागरिक सब जानता है राजा तो देश में बहुत बने पर देश राजा के लिए नहीं होता बल्कि राजा देश के लिए होता है यही सोच अगर आप की होती तो गरीब लोगों की आप सोचते


,,कबीर जी कहते हैं,,


बिना सोचे जो करे फिर पाछे पछताए, काम बिगाड़े आपनो जग में होत हसाऐ,,


इसलिए कहना यह है कि देश के फैसले देश के लिए किए जाते हैं जिससे देश को आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए एवं जनता की भलाई के लिए बिना सोचे समझे कोई फैसला नहीं लेना चाहिए


जनहित में जारी



,,कबीर जी का कहना,,


कबीरा श्वास श्वास है स्वासा बिरता ना कोई, ना जाने इस श्वास का आवन होय ना होय,,


सिंधिया जी के भाषण ओं पर विरोधी रहगये दंग


क्षेत्र के विकास के लिए एवं नौजवानों के भविष्य के लिए आप की बार मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाएं और अपने प्रदेश एवं क्षेत्र को चमकाएं सब का नारा कांग्रेस हमारा


मुकेश कुमार कोली



रिपोर्टर

No comments:

Post a Comment