रांची / झारखंड से राजीव झा के साथ किशोर 'मालवीय' की रिपोर्ट। भारत न्यूज लाइव 24 के लिए। - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, 23 November 2018

रांची / झारखंड से राजीव झा के साथ किशोर 'मालवीय' की रिपोर्ट। भारत न्यूज लाइव 24 के लिए।

रांची / झारखंड से राजीव झा के साथ किशोर  'मालवीय' की रिपोर्ट। भारत न्यूज लाइव 24 के लिए।

मिथिलाक प्रसिद्ध लोक पर्व सामा चकेबा का समापन।


रांची स्थित हरमू के पटेल मैदान में झारखण्ड मिथिला मंच के जानकी प्रकोष्ठ द्वारा सामा चकेबा महोत्सव 2018 का आयोजन किया गया। यह आयोजन प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा के दिन आयोजित होता है। मिथिला के ग्रामीण जीवन का यह लोक पर्व प्राचीन काल से लोकप्रिय रहा यह मंच मिथिला की संस्कृति ,भाषा और लोक भवन को संरक्षित एवं संवर्द्धित करने के उद्देश्य से इस पर्व को रांची नगर में धूम धाम से मनाता आ रहा है। पुराण आधारित कथा के आधार पर इस पर्व में मिथलीनिया सामा चकेबा आदि की मुर्तिया बनाकर आयोजित पर्व में भाग लेती है। इस वर्ष भी रांची नगर प्रत्येक भाग से लगभग 150 अधिक सुसज्जित ड़ालाये सम्मलित हुई। प्रत्येक वर्ष डाला में प्रज्ज्वलित दिप की शोभा दूर से लोगो को मन भवन लग रहा था। साथ ही मिथिलानियों के वारा एक से एक सामा गीत की प्रस्तुति प्रवेश को अनुगुंजित कर रही थी। इस वर्ष का विशेष आकर्षण रहा बच्चो द्वारा सामा गीत के धून में भाव नृत्य की प्रस्तुति और सामा चकेबा के कथा पर आधारित महासचिव संतोष झा द्वारा रचित संगीत नृत्य नाटिका रहा। इस वर्ष सामा चकेबा लोक पर्व का शुभ आरम्भ गोसाउनिक गीत जय जय भैरवी ,असुर भयावनी................... सामूहिक गायन एवं आये हुए मुख्य अथिति , विशिष्ट अथिति के कर कमलों द्वारा दिप प्रजव्व्लन से हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता ...... ........................

मुख्य अथिति रांची की मेयर श्रीमती आशा लकड़ा साथ ही विशिष्ट अथिति के रूप में झारखंड विकास मोर्चा की महिला मोर्चा की केन्द्रीय अध्यक्ष शोभा यादव,झारखंड मुक्ति मोर्चा की महुआ मांझी , रांची यूनवर्सिटी की डिन्न सरस्वती मिश्रा , नंदनी पाठक , डॉ आभा झा एवं

उपस्थित होकर उपस्थित लोगो को सबोधित किया। मंच की कलाकार रूपा चौधरी , निभा झा ,चन्दन झा एवं रेणु झा ने गीत संगीत एक से एक महत्वपूर्ण प्रस्तुति में प्रसिद्ध सामा गीत डाला ले बहार भेली............ गाम के अधिकारी बड़का भइया हो..... .. ... वृंदावन में आगि लगलै....... .. ... ... की प्रस्तुति दी जिससे उपस्थित दर्शक वृन्द एक झूमने लगे। झारखण्ड मिथिला मंच बाल स्वयसेवक नवनीत कुमार एवं श्रुति झ से. द्वारा नृत्य नाटिका एवं प्राची सांडिल्य , कृतिका झा , प्रियांशी , अनन्या सांडिल्य , अनन्या झा , पायल , भूमि एवं राशि के द्वारा किये गये नृत्य से लोग मंत्र मुग्ध हो गए। कार्यक्रम प्रस्तुति के बाद आये हुए एक से बढ़कर सुसज्जित पारम्परिक डालाओ की प्रदर्शनी का निरक्षणों का उपरांत प्रथम पुरस्कार मधूकाम की मीना सिंह के.दिया गया, द्वित्यीय एवं तृतीय पुरस्कार लक्ष्मी चौधरी मधुकाम और धुर्वा की सरोज झा को  दिया गया शेष सभी डालाओ को सांत्वना पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन डॉ आभा झा ने किया। और कार्यक्रम बाद सहभोज पश्चात सबो को जय मिथिला जय मैथिलि कह कर विदा किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में मंच के अध्यक्ष श्रीपाल झा , महासचिव संतोष झा , संयोजक मनोज को मिश्र ,पुनिता झा ,डॉ आभा झा , सतीश झा , आशा झा , मुन्नी यादव ,निर्मला झा,सुधा झा, इन्दु झा, प्रमिला मिश्रा , मीणा सिंह , मुन्नी झा , जीवन देवी , आनंद कुमार झा , पियूष दास , प्रदीप चौधरी , प्रवीण झा , सुजीत झा , संजीत कुमार झा , नवीन कुमार झा , राधेश्याम यादव , कमल देव् मिश्र , सोनू सिंह सहयोग किया। मंच का संचालन मिथिलेश डॉ कृष्ण मोहन झा ने किया। इस सफल कार्यक्रम के संयोजक किशोर झा और सहसंयोजक निशा झा थी।

No comments:

Post a Comment