Monday, 29 October 2018

कांग्रेस में 80 सीटों पर सिंगल नाम तय* सिंगरौली से रेनू व देवसर से वंशमणि हो सकते हैं उम्मीदवार

*कांग्रेस में 80 सीटों पर सिंगल नाम तय*

सिंगरौली से रेनू व देवसर से वंशमणि हो सकते हैं उम्मीदवार

 मध्य प्रदेश में सत्ता का वनवास झेल रही कांग्रेस को वासपी के लिए फूंक फूंक कर कदम रखना  पड़ रहा है। यही कारण है कि विधानसभा चुनाव के लिए सही प्रत्याशी के चयन में कांग्रेस को  पसीना आ रहा है। तमाम बैठकों और स्क्रीनिंग समिति की कई दौर की चर्चा के बाद भी पार्टी अब  तक सभी प्रत्याशियों पर फैसला नहीं ले पाई है। सूत्रों के मुताबिक जिन सीटों पर विवाद की स्थिति है । उन्हें छोड़कर  80 सीटों पर सिंगल नाम तय हो चुके हैं। करीब 45 विधायकों को सिंगल नाम वाली सीटों में शामिल किया है। 

कांग्रेस चुनाव समिति सभी सीटों पर विचार कर चुकी है, लेकिन बड़े शहरों और आसपास की सीटों पर माथापच्ची जारी है, जिन सीटों पर अभी फाइनल फैसला नहीं हो पाया, उन्हें होल्ड कर लिया गया है। राहुल गाँधी के मध्य प्रदेश दौरे के बाद इन पर अंतिम फैसला होगा। वहीं पार्टी चाहती थी कि ज्यादा से ज्यादा सीटों पर सिंगल नाम तय हो जाए, लेकिन बड़े नेताओं की सहमति न बन पाने के चलते सिर्फ लगभग 80 सीटों पर ही सिंगल नाम हैं, अन्य पर दो नामों के पैनल बने हैं।  हालांकि अभी भी यह आशंका बनी हुई है कि ऐन मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद के द्वारा कराए गए सर्वे की रिपोर्ट में से कुछ नाम सूची में जोड़ दें। रीवा संभाग की बात करे तो चित्रकूट से नीलांशु चतुर्वेदी , सतना से सिद्धार्थ कुशवाह, अमरपाटनसे डॉ. राजेंद्र कुमार सिंह , रामपुर बघेलान से सज्जन सिंह तिवारी, मऊगंज से सुखेंद्र सिंह बना , रीवा से अभय मिश्रा, गुढ़ से सुंदरलाल तिवारी , चुरहट से  अजय सिंह , सिंहावल से कमलेश्वर पटेल , सिंगरौली से रेणु शाह, देवसर से वंशमणि वमा का नाम शामिल है।