*✍सीधी- मुख्य निर्वाचन अधिकारी के द्वारा बीते दिनों शनिवार को आचार संहिता लागू कर दी गई जिसे लेकर मध्य प्रदेश चुनाव में खलबली सी मच गई है जहां विधायक एवं मंत्री गुपचुप तरीके से जनता के बीच जाकर शिलान्यास भूमि पूजन करने का प्रयास कर रहे है।* 🔺तेज खवर पहली नजर.....🔺 *🅱भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खवर आप तक सीधी से 🚶आर,डी,पाण्डेय के साथ शरद गौतम की रिपोर्ट।*🚶🚶🚶🚶🚶🚶 *🔻मध्यप्रदेश.🔻......।* - BHARAT NEWS LIVE 24

WEB TV

https://www.youtube.com/channel/UCMC0tYOO3NuROBFSlfFklXg

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, 11 October 2018

*✍सीधी- मुख्य निर्वाचन अधिकारी के द्वारा बीते दिनों शनिवार को आचार संहिता लागू कर दी गई जिसे लेकर मध्य प्रदेश चुनाव में खलबली सी मच गई है जहां विधायक एवं मंत्री गुपचुप तरीके से जनता के बीच जाकर शिलान्यास भूमि पूजन करने का प्रयास कर रहे है।* 🔺तेज खवर पहली नजर.....🔺 *🅱भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खवर आप तक सीधी से 🚶आर,डी,पाण्डेय के साथ शरद गौतम की रिपोर्ट।*🚶🚶🚶🚶🚶🚶 *🔻मध्यप्रदेश.🔻......।*

*✍सीधी- मुख्य निर्वाचन अधिकारी के द्वारा बीते दिनों शनिवार को आचार संहिता लागू कर दी गई जिसे लेकर मध्य प्रदेश चुनाव में खलबली सी मच गई है जहां विधायक एवं मंत्री गुपचुप तरीके से जनता के बीच जाकर शिलान्यास भूमि पूजन करने का प्रयास कर रहे है।*

🔺तेज खवर पहली नजर.....🔺

*🅱भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खवर आप तक सीधी से 🚶आर,डी,पाण्डेय के साथ शरद गौतम की रिपोर्ट।*🚶🚶🚶🚶🚶🚶

*🔻मध्यप्रदेश.🔻......।*

आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में सीधी विधायक केदारनाथ शुक्ल सोमवार 8 अक्टूबर को शिवपुरवा में बन रही प्रधानमंत्री सड़क के भूमि पूजन का निर्धारित कार्यक्रम था किंतु आचार संहिता लगने की वजह से कार्यक्रम देरी से शुरू होने के बाद जनता जनार्दन के बीच वोट की अपील करते हुए विधायक को देखा गया साथ ही वहां पर जनता को मिष्ठान और लड्डू वितरित किए गए कार्यक्रम में जनपद पंचायत अध्यक्ष सहित भाजपा का पूरा अमला शामिल था।
विपक्षी पार्टी के लोग इसे आचार संहिता के उल्लंघन की बात कह रहे हैं साथ ही जिला निर्वाचन अधिकारी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत की बात भी कह रहे हैं
बाइट(2) ज्ञान सिंह जिला महामंत्री कांग्रेस कमेटी सीधी

बहर हाल कुछ भी हो आचार संहिता के लगने के बाद ऐसे आयोजन कहीं ना कहीं प्रशासनिक कार्यवाही ऊपर सवाल खड़ा करते हैं और प्रशासन को ऐसे कार्यक्रमों की ना जानकारी होना बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण है।

No comments:

Post a Comment