Thursday, 19 July 2018

स्वामी अग्निवेश पर किये गए हमले की सीबीआई जांच कराने एवम हमलावरों को गिरफ्तार किए जाने प्रधानमंत्री को ज्ञापन।

स्वामी अग्निवेश पर किये गए हमले की सीबीआई जांच कराने एवम हमलावरों को गिरफ्तार किए जाने प्रधानमंत्री को ज्ञापन।

कलेक्टर सीधी के माध्यम से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन सौप कर क्रांतिकारी मोर्चा के संयोजक उमेश तिवारी ने कहा है कि आपके प्रधानमंत्री बनने के बाद कटटर पंथियों द्वारा सुनियोजित एवं षडयंत्रपूर्वक विरोधियों पर हमले करने तथा हिंसक भीड़ द्वारा निर्दोष नागरिकों की हत्याएं करने की घटनायें तेजी से बढ़ी है। देश में सैकड़ों बेगुनाहों की मौत हो चुकी है। देश में कानून व्यवस्था की स्थिति चौपट हो गई है। आपके समर्थकों को लगता है कि वे कानून हाथ में लेकर भीड़ के माध्यम से तथाकथित न्याय कर सकते है क्योंकि उन्हें सत्तारूढ़ दल का संरक्षण प्राप्त है।
श्री तिवारी ने कहा है कि इसी तरह की घटना झारखंड के पाकुड़ में 80 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता ,पूर्व मंत्री ,बंधुआ मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सर्व धर्म सभा  के अध्यक्ष स्वामी अग्निवेश पर भाजपा युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं द्वारा गाली गलौज एवं लात घूंसों से पिटाई करते हुए जानलेवा हमला किया गया।
टोंको-रोंको- ठोंको क्रांतिकारी मोर्चा मांग करता है कि आप  स्वामी अग्निवेश पर हमला करने वाले गुंडों पर धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज कर तत्काल उनकी गिरफ्तारी हेतु निर्देश जारी करने का कस्ट करें ।
हमारी मांग है कि स्वामी अग्निवेश को सुरक्षा प्रदान की जाये तथा आप सम्पूर्ण घटना की सीबीआई से जांच कराने के निर्देश दें। आरोपी हमलावरों पर मुकदमा चलाने के लिए विशेष अदालत गठित की जाए।
हम चाहते है कि इस प्रकरण में हमलावरों को इस तरह की कठोर सजा मिले ताकि भिन्न मत रखने वाले किसी भी व्यक्ति पर हमलों की घटनाओं को देश में शक्ति से रोका जा सके। हमारी यह भी मांग  है कि आप सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों के अनुसार भीड़ के हमलों को रोकने के लिये जल्द से जल्द संख्त कानून पारित  कराएं।
उक्त घटनाओं से भारत की दुनिया भर में छवि खराब हो रही है। भारत दुनिया का सबसे असहिष्णु तथा कमजोर लोकतंत्र बन रहा है।  जिसका असर निवेश पर पड़ेगा ,देश का विकास बाधित होगा। विकास के लिए मजबूत लोकतंत्र एवं समतावादी भारत की जरूरत है। जिसकी रूपरेखा भारत के संविधान निर्माताओं द्वारा भारत के संविधान में बनाई है।आप संविधान विरोधी कार्यकरने वालों पर संख्त कार्यवाही करें और उन्हें पार्टी से निकालने का आदेश दें।
सादर प्रकाशनार्थ
                                 प्रवक्ता
            टोंको-रोंको-ठोंको क्रांतिकारी मोर्चा

No comments:

Post a Comment