Thursday, 19 July 2018

मलेरिया नियंत्रण कार्यशाला आयोजन पर जनपद अध्यक्ष श्रीमान सिंह ने कहा कि बरसात के गन्दे पानी से होने बाली गम्भीर बीमारियों पर रोक थाम के लिए गम्भीरता से कार्य करे स्वास्थ बिभाग के कमर्चारी। ✍🏻भारत न्यूज लाइव 24 मप्र हर खबर आप तक।

मलेरिया नियंत्रण कार्यशाला आयोजन पर जनपद अध्यक्ष श्रीमान सिंह ने कहा कि बरसात के गन्दे पानी से होने बाली  गम्भीर बीमारियों पर रोक थाम के लिए गम्भीरता से कार्य करे स्वास्थ बिभाग के कमर्चारी।

✍🏻भारत न्यूज लाइव 24 मप्र
       हर खबर आप तक।

मलेरिया नियत्रंण अभियान के तहत 18 जुलाई 2018 को जनपद पंचायत सिहावल के सभागार में जनपद अध्यक्ष महोदय श्रीमान सिंह के मुख्यतिथि में व सिहावल यस डी एम आर के सिन्हा महोदय के अध्यक्षता में व  डॉ. व्ही पी सिंह बघेल मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी के विशिष्ट अतिथि में कार्यशाला का आयोजन किया गया कार्यशाला में  मिहिला बाल विकास परियोजना अधिकारी अंजना सिंह सशक्तिकरण परियोजना अधिकारी माधुरी सिंह समस्त सुपरवाइजर उपस्तिथ रही समुदायिक स्वास्थ केंद्र सिहावल के बी यम ओ डॉ. संजय पटेल जिला चिकित्सालय अधिकारी डॉ. नेहा अहरवार डॉ. मोहम्मद असलम व स्वास्थ बिभाग के ए एन एम आशा सहयोगी समस्त विभागीय कर्मचारियो के उपस्तिथि में।

जनपद अध्यक्ष
श्रीमान सिंह ने कहा कि बरसात के गन्दे पानी के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में गम्भीर बीमारी रूप धारण कर लेती है उल्टी दस्त और मलेरिया जैसी गम्भीर बीमारी से समय पर उपचार न होने के कारण कई लोगों की जाने चली जाती है जिस पर गंभीरता के साथ मलेरिया नियंत्रण रोक थाम पर स्वास्थ विभाग के कर्मचारियों को पूरे  ईमानदारी के साथ कार्य करे।

सिहावल यस डी एम आर के सिन्हा महोदय ने कहा कि सभी कर्मचारी अपने अपने कार्य क्षेत्र में मलेरिया रोक थाम के लिए अच्छे से कार्य करे और मलेरिया नियंत्रण पर काबू पाये ग्रामीण क्षेत्रों में किसी प्रकार की बीमारी फैलने न पाए इसके लिए सशक्त निगरानी करे अगर कोई भी कर्मचारी अपने कार्य क्षेत्र में लापरवाही बरते गा उसके खिलाफ सक्त कार्यबाही की जाएगी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. व्ही पी सिंह ने स्वास्थ विभाग के कर्मचरियों को निर्देशित करते हुए कहा कि अपने अपने कार्य क्षेत्र में मलेरिया बचाव के साथ साथ प्रसूति सहायता के एक भी प्रकरण पेंडिंग न होने पाए व मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्रसूति सहायता के प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ग्रामीण जन आशिर्वाद यात्रा के दौरान प्रसूति सहायता व अन्य बीमारियों की शिकायत ग्रामीणों द्वारा मुख्यमंत्री महोदय से की गई तो माना जाएगा की उस क्षेत्र का स्वास्थ कर्मचारी अपने दायित्व का निर्वाहन नही किया है उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी बेहतर होगा कि अपने अपने कार्य क्षेत्र में प्रसूति सहायता की राशि हितग्राहियों को तत्काल उपलब्ध कराए व गंभीरता के साथ कार्य करे जिससे किसी प्रकार की शिकायत न मिले।

✍🏻भारत न्यूज लाइव 24 मप्र
           हर खबर आप तक
  सिहावल ब्लाक से सौकत अली
       के साथ लकी की रिपोर्ट।