स्टेट हाइवे पर सदिसोपुर में बना रहे थे अपराध की योजना,48 घंटे में बिहटा पुलिस के हत्थे चढ़ेे रेमण्ड शो-रूम पर गोलीबारी करने वाले 3 गुर्गेे,2 बाइक 1पिस्टल 2 जिंदा कारतूस जप्त - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Thursday, 3 May 2018

स्टेट हाइवे पर सदिसोपुर में बना रहे थे अपराध की योजना,48 घंटे में बिहटा पुलिस के हत्थे चढ़ेे रेमण्ड शो-रूम पर गोलीबारी करने वाले 3 गुर्गेे,2 बाइक 1पिस्टल 2 जिंदा कारतूस जप्त


बिहटा से
किशोर चौहान,की रिपोर्ट
बिहटा (पटना)स्टेट हाइवे पर सदिसोपुर में बना रहे थे अपराध की योजना।48 घंटे में बिहटा पुलिस के हत्थे चढ़ेे रेमण्ड शो-रूम पर गोलीबारी करने वाले 3 गुर्गेे।2 बाइक 1पिस्टल 2 जिंदा कारतूस जप्त।5 माह पूर्व बिहटा निवासी कारोबारी राजेश कुमार गुप्ता ने नौबतपुर निवासी कुख्यात माणिक के पिता मनोज सिंह पर कोतवाली में दर्ज कराया था रंगदारी मांगने का मामला।1मई को दिनदहाड़े ब्लू रंग की बाइक पर सवार अपराधियों ने दुकान पर चलायी थी एक गोली।शीशे में हो गया था छेद। घटना स्थल से पुलिस ने बरामद किया था एक जिंदा तथा एक खाली खोखा।अपराधियों की फिराक लगी हुई थी पुलिस।पटना के पुलिस कप्तान मनु महाराज के निर्देश पर बिहटा के थानाध्यक्ष रंजीत कुमार सिंह की टीम को मिली यह सफलता।पुलिस को सूचना मिली कि कुछ अपराधी बिहटा -खगौल स्टेट हाइवे पर वास्तु-बिहार,सदिसोसोपुर के निकट अपराध की योजना बना रहें है। पुलिस ने त्वरित करवाई करते तीन को धर दबोचा।जिसमें जिनपुरा निवासी धनंजय सिंह का पुत्र गोलू कुमार ,श्रीरामपुर निवासी रंजय सिंह का पुत्र सौरभ कुमार तथा महावीर नगर, बिहटा निवासी विन्देश्वरी प्रसाद का पुत्र विक्की कुमार है।थानाध्यक्ष रंजीत कुमार सिंह ने बताया कि सभी अपराधी माणिक के गुर्गे है।जिसमें गोलू ने बताया है कि गोलीबारी के दिन वह अपनी वाइक आर-1-5 से अपने सहयोगी के साथ पहले कन्हौली आया। वहीं अपने साथी विक्की की सोने की दुकान पर अपनी बाइक लगा दी।जहां से विक्की के साथ तीनो उसके ब्लू रंग की पल्सर लेकर बिहटा आकर गोलीबारी की।फायरिंग करने के बाद वे सभी पुनः कन्हौल गए और पल्सर को वहीं छोड़ अपनी वाइक से नौबतपुर लौट गये।पुलिस का कहना है गिरफ्तार तीनो कुख्यात मनोज सिंह तथा उसके अपराधी पुत्र माणिक के लिये काम करते है।ये पहले भी कई घटनाओं को अंजाम दे चुके है।इन अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद यहां के कारोबारियों ने राहत की सांस ली है।सिनेमाहॉल मालिक निर्भय सिंह हत्याकांड और केसरी मेडिकल पर गोलीबारी करने वाले कुख्यात अमित सिंह और उनके गुर्गे पहले ही पकड़े जा चुके हैं।कुछ व्यवसायियों से रंगदारी मांगने वाला जेल में बंद भोजपुर के कुख्यात रंजीत चौधरी का दाया हाथ पवन चौधरी सलाखों के पीछे है। थानायध्यक्ष ने कहा कि कुख्यात मनोज सिंह और उसका बेटा माणिक भी जल्द ही सलाखों में होगा।

No comments:

Post a Comment